Breaking News

अस्थमा, पीरियड प्रॉब्लम, कमर दर्द और कब्ज को अकेले ही ठीक कर देते हैं ये बीज, जानिये

 आज हम आपको कौंच के बीज के फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं, इसे मखमली सेम भी कहा जाता है, ये बीज आयुर्वेद में बहुत ही महत्वपूर्ण औषधि के रूप में जाने जाते हैं, इसके बीजों में बहुत सारे पोषक तत्व जैसे कि लुथियोन, गैलिक एसिड, ग्लाइकोसाइड प्रोटीन, फाइबर और टैनिन एसिड आदि अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं, तो चलिए जन लेते हैं, कौंच के बीज के फायदे।


Third party image reference
कौंच के बीज के फायदे
अस्थमा के लिए
एंटी-हिस्टामिनिक की तरह काम करता है, और एलर्जी से बचाव कर सकता है, इसके अलावा, कौंच के बीज को आयुर्वेद में दमा या अस्थमा के इलाज के तौर पर भी वर्षों से उपयोग किया जा रहा है।

Third party image reference
पीरियड प्रॉब्लम में
पीरियड के दौरान होने वाली परेशानियों जैसे पेट दर्द, कमर दर्द, बेचैनी, चिडचिडापन और कमजोरी जैसी समस्याओं में कौंच के बीज से फायदा मिलता है।
कमर दर्द में
इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी और एनाल्जेसिक यानी दर्दनाशक गुण दर्द से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं, इनके सेवन से कमर दर्द में राहत मिलती है।
कब्ज में
फाइबर से भरपूर होने के कारण इसके सेवन से पेट की समस्याओं जैसे कब्ज, एसिडिटी, अपचन और गैस से छुटकारा मिलता है।

Third party image reference
कौंच के बीज के सेवन का तरीका
आप कौंच बीज का काढ़ा बनाकर सेवन कर सकते हैं, कौंच के पत्तों को घिसकर लेप की तरह त्वचा पर लगा सकते हैं, ये बीज दवा के रूप में मेडिकल स्टोर में भी उपलब्ध होते हैं, आप इसे कैप्सूल या टैबलेट के रूप में भी सेवन कर सकते हैं, कौंच बीज का चूर्ण भी बाजार में उपलब्ध है, तो आप इसका सेवन दूध या पानी के साथ भी कर सकते हैं।