Breaking News

खराब आंख या मोतियाबिंद को ठीक करने का देसी उपाय एक बार जरूर जान लें

 विज्ञान दृष्टि और आयुर्वेद के अनुसार आंख के अंदर चार परते होते हैं| पहले पर्दे में दोष कुपित होते हैं तो सभी पदार्थ साफ दिखाई देते हैं और दूसरे पटल में दोष व्याप्त होते हैं तो दृष्टि में विकृति उत्पन्न हो जाती है और आंखों के सामने जालसा जैसे मच्छर, मक्खी, मेंढक आदि नाचते दिखाई देते हैं और अंधकार सा लगता है| दूर की कोई भी वस्तु नजदीक दिखाई देती है और नजदीक की वस्तु दूर दिखाई देती है| तीसरे पटेल में रोग उत्पन्न होने से वह देख तो सकता हैं लेकिन नीचे की वस्तु नहीं दिखाई देती है और बड़े पदार्थ भी साफ दिखाई नहीं देते है| इसमें नेत्रहीन रूप कान, नासिका आदि दिखने में आते हैं| चौथे पटेल में रोग होने से मनुष्य देख नहीं सकता, जब तक उसका इलाज नहीं होता तब तक सूर्य, चंद्रमा, बिजली आदि चमकती चीजें ही देख सकता है| तो चलिए जान लेते हैं मोतियाबिंद वे खराब आंखों को ठीक करने का देसी उपाय..



देसी उपाय
मोतियाबिंद या आंखों में किसी भी तरह की समस्या होने पर 10 ग्राम त्रिफला को एक कप पानी में भिगोकर रात को छोड़ दे और सुबह उसे पानी से आंखों को धोएं| सप्ताह में समान मात्रा में घी और मधु के साथ सुबह-शाम आंखों को धोएं और मोतियाबिंद है तो अर्जन सलाई से आंखों में लगाएं इस अर्जुन को नियमित आंखों में लगाने से 2 से 3 सप्ताह में ही मोतियाबिंद ठीक हो जाता है|


यह दवाई आप किसी भी मेडिकल स्टोर से खरीद सकते हैं| यदि आप इन दवाइयों का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आप किसी वेद या किसी आयुर्वेदिक डॉक्टर की सलाह जरूर लें|