Breaking News

ये छोटे काले दाने लौटाएंगे आपकी आंखों की रोशनी

 कलौंजी एक प्रकार का बीज होता है, जिसका प्रयोग कई व्यंजनों में स्वाद के लिए किया जाता है। प्राचीन काल से ही कलौंजी का प्रयोग आयुर्वेद की दवाओं में किया जाता है। कलौंजी आयरन, सोडियम, कैल्शियम, पोटेशियम और फाइबर जैसे बहुत सारे मिनरल्स और न्यूट्रिएंट्स से भरपूर है। लगभग 15 एमीनो एसिड से भरपूर कलौंजी शरीर के लिए जरूरी प्रोटीन की कमी पूरी करती है। कलौजीं का तेल रक्तचाप को कम और श्वसन क्रिया को बेहतर करता है। आज हम जानते हैं कि कलौंजी शरीर को किस तरह फिट रखती है।

आंखों की रोशनीकलौंजी के फायदे

आंखों की रोशनी बढ़ाए

आंखों की लाली, मोतियाबिंद, आंखों से पानी का आना, आंखों की रोशनी कम होना आदि। इस तरह के आंखों के रोगों में एक कप गाजर का रस, आधा चम्मच कलौंजी का तेल और दो चम्मच शहद मिलाकर दिन में 2 बार सेवन करें। इससे आंखों की रोशनी बढ़ती है।

यह भी पढ़ेंं-उम्र से पहले आया ऐसा बुढ़ापा होगा दूर, इन पांच नुस्खों की काट किसी दवा में नहीं

पेट दर्द में लाभदायक

पेट दर्द होने पर एक गिलास नींबू पानी में 2 चम्मच शहद और आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर दिन में 2 बार पिएं। साथ ही 1 गिलास मौसमी के रस में 2 चम्मच शहद और आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर दिन में 2 बार पीने से पेट का दर्द खत्म हो जाता है।

सर्दी-जुकाम में राहत

कलौंजी के आधा कप पानी में आधा चम्मच कलौंजी का तेल और चौथाई चम्मच जैतून का तेल मिलाकर इतना उबालें कि पानी खत्म हो जाएं और केवल तेल ही रह जाएं। इसके बाद इसे छानकर 2 बूंद नाक में डालें। इससे सर्दी-जुकाम ठीक में काफी राहत मिलती है।

यह भी पढ़ेंं-डॉक्टर नहीं ये उपाय देंगे माइग्रेन के दर्द से फटाफट राहत

खून की कमी दूर करें

एक कप पानी में 50 ग्राम हरा पुदीना उबाल लें और इस पानी में आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर सुबह खाली पेट और रात को सोने से पहले लें। इससे 21 दिनों में खून की कमी दूर होती है।

गंजेपन से मुक्ति

जली हुई कलौंजी को हेयर ऑयल में मिलाकर नियमित रूप से सिर पर मालिश करने से गंजापन की समस्या से मुक्ति मिलती है। कलौंजी त्वचा संबंधी विकार को भी दूर करती है। इसके लिए कलौंजी के चूर्ण को नारियल के तेल में मिलाकर मालिश करनी चाहिए।