Breaking News

पुराने से पुराने एक्जिमा को ख़त्म करेगा ये उपचार, एक बार जरूर प्रयोग करके देखें

 


Google Image
एक्जिमा एक ऐसा रोग है, जिसमे शरीर की त्वचा में कहीं पर भी लाल या पुराने होने पर हल्के काले रंग के दाग-धब्बे पड़ जाते हैं। इन दाग और धब्बों में काफी खुजली भी होती है। कभी-कभी त्वचा पर छाले (फफोले) भी हो सकते हैं। “एक्जिमा” शब्द का प्रयोग विशेष रूप से एटोपिक डर्माटाइटिस की स्थिति को व्यक्त करने के लिए भी किया जाता है। “एटोपिक” एलर्जी से सम्बंधित होता है। अतः एक्जिमा वाले लोगों में अक्सर खुजली, लाल त्वचा और चकते के उत्पन्न होने के साथ-साथ, एलर्जी या अस्थमा रोग का भी कारण बनता है। एक्जिमा को ठीक करना आसान नहीं होता है। अगर इसका उपचार सही ढंग से नहीं किया गया, तो यह शरीर में काफी तेजी से फैलता है। आज मैं आपको एक्जिमा को ख़त्म करने का एक उपचार बताने जा रहा हूँ, जिससे कुछ समय में इसे ख़त्म किया जा सकता है। आइये जानते हैं उस उपचार के बारे में।

Google Image
एक्जिमा का उपचार
इसके लिए आपको 20 ग्राम नीम की छाल, 20 ग्राम पीपल की छाल, 10 ग्राम नौशादर, 20 ग्राम अरंडी का तेल, 2 मदार के पत्ते और 10 ग्राम बबूल की छाल लेनी हैं। इस सभी सामग्री को धूप में सुखा लें और अरंडी के तेल को छोड़ कर सभी चीजों को आपस में पीस लें। इसके बाद इस मिश्रण को अरंडी के तेल में मिलाकर पेस्ट बना लें। अगर अरंडी का तेल कम पड़े तो उसमे थोड़ा तेल और बढ़ा लें।

Google Image
अब इस पेस्ट को किसी खुली मुंह की बोतल में भरकर 10 दिन तक धूप में रखें। इसके बाद जो शेष बचे उसे रोजाना सुबह शाम एक्जिमा पर लगाएं। ऐसा करने से एक माह में पुराना से पुराना एक्जिमा ख़त्म हो जाता है। ध्यान रहे एक्जिमा वाले स्थान पर किसी तरह का कोई साबुन आदि न लागएं।