Breaking News

बरसाती फोड़े-फुंसियां और घाव ठीक करने के घरेलू उपाय

 बरसात के दिनों में फोड़े- फुंसियां, दाद, दिनाय, खुजली, घाव इत्यादि होना आम हो जाता है. इसका मुख्य कारण है आपके शरीर का रक्त दूषित होना साथ ही बाहरी प्रदूषण से भी त्वचा जल्दी प्रभावित होती है. बाहरी और भीतरी प्रदूषण के कारण त्वचा पर इसका असर साफ दिखाई देता है और बारिश के दिनों में तो प्रदूषण होना आम हो जाता है. जिसके कारण बारिश में आपको यह समस्याओं का सामना करना पड़ता है और आपको फोड़े- फुंसियां होने लगती है. साथ ही यह समस्या संक्रमण के रोग की तरह होती है जो किसी एक से दूसरे के संपर्क में आने से भी हो सकती है.


बरसाती फोड़े-फुंसियां और घाव ठीक करने के घरेलू उपाय
 
बरसात के मौसम आने का जहां इंतजार बारिश की बूंदों में नहाने से खत्म होता है. वही त्वचा पर इसका बुरा प्रभाव साफ दिखाई देता है और यह त्वचा पर कहीं भी हो जाते हैं. जिसके कारण कई बार शर्मिंदगी का भी एहसास होता है. क्योंकि यह चेहरे हाथ, पैर, गर्दन, कूल्हे आदि कहीं भी हो जाते हैं. यह अजीब सी दिखने के साथ-साथ दर्द और खुजली की समस्या भी रहती है. इसलिए आज हम इस पोस्ट के माध्यम से कुछ ऐसे घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं. जिससे बरसाती फोड़े- फुंसियां और घाव को ठीक करने में आपको मदद मिलेगी.

 
चलिए जानते हैं-
सरसों का तेल-

 
इस समस्या से छुटकारा पाने में सरसों का तेल आपकी मदद कर सकता है. इसके लिए एक रुई के टुकड़े को पानी में भिगो दें. उसके बाद उसे अच्छी तरह निचोड़ दें और तवे पर थोड़ा सा तेल डालकर हुई को अच्छे से पकाएं. उसके बाद आप इसे घाव या फोड़े- फुंसी या पर रखकर पट्टी बांधे ऐसा करने से घाव पक जाएगा और इसे ठीक होने में मदद मिलेगी. आप सरसों तेल की जगह शुद्ध घी का भी प्रयोग कर सकते हैं दिन में दो बार करना चाहिए.
बरगद के पत्ते-

 
बरगद के पत्ते भी घाव, फोड़े और फुंसियों को ठीक करने में आपकी मदद कर सकता है. इसके लिए आप बरगद के पत्तों को गरम करके अच्छे से उस स्थान पर रखें. जहां आपको परेशानी है और उसके बाद पट्टी या किसी सूती कपड़े के मदद से अच्छे से बांध दें. इस तरीके का इस्तेमाल करने से आपको इस समस्या को खत्म करने में मदद मिलेगी.
नीम की सूखी छाल-

 
नीम की सूखी छाल को पीसकर पानी की मदद से पेस्ट बना लें. अब इस पेस्ट को फोड़े- फुंसियों और घाव पर लेप कर के ऊपर से सूती कपड़े या बैंडेज से बांध दें. ऐसा दो-तीन बार करने से आपको इस समस्या से छुटकारा मिलेगी. इसके अलावा आप नीम की छाल को काढ़ा बनाकर पी सकते हैं. इससे रक्त साफ करने में मदद मिलती है. जिससे फोड़े- फुंसियां और घाव जल्दी ठीक होते हैं.
करेला-

 
करेले का सेवन करना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है. लेकिन यह आपकी फोड़े- फुंसियां और घाव की समस्या से छुटकारा दिलाने में भी मदद करेगा. इसके लिए करेले के रस में नींबू का रस मिलाकर प्रतिदिन सुबह खाली पेट पीने इसे पीने से रक्त को साफ करने में मदद मिलती है. जिससे यह न केवल फोड़े- फुंसियों की समस्या से छुटकारा दिलाएगा. बल्कि बवासीर शुगर खासी जैसी समस्याओं से भी निजात पाने में आपकी मदद करेगा.