Breaking News

बचना चाहते हैं हार्टअटैक की समस्या से तो जिंदगी से निकाल दें ये पांच बुरी आदतें

 आजकल ज्यादातर लोगों में हार्ट से जुड़ी कई तरह की समस्याएं हो रही है और उनका हार्ट कमजोर होने लगा है. हार्ट की इस कमजोरी के चलते मौत का डर हमेशा बना रहता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपके दिल की इस बीमारी का कारण आपके खान-पान और कुछ गलत आदतें हैं जो हार्ट अटैक का कारण बनती है. इसलिए आज हम इस पोस्ट के माध्यम से कुछ ऐसे बुरी आदतों के बारे में बताने की कोशिश करेंगे. जिसे जिंदगी से निकाल दिया जाए तो हार्टअटैक की समस्या से बचा जा सकता है.


Third party image reference
चलिए जानते हैं-
1 .वसा युक्त भोजन-
आजकल लोग खानपान का सही ध्यान नहीं रखते हैं. ज्यादातर लोग वसायुक्त भोजन करते हैं. जिससे गैस ब्लोटिंग, एसिड रिफ्लक्स और नाराजगी जैसे तत्काल दुष्प्रभाव और लंबे समय तक प्रभाव पड़ते हैं जो हृदय रोग के जोखिम को बढ़ा सकते हैं.

Third party image reference
2 .एक्सरसाइज की कमी-
गतिहीन जीवन शैली जैसे एक्सरसाइज न करना, एक जगह बैठे रहना और आलस्य जैसी आदतों के कारण मोटापा अधिक हो जाता है जो कई बार हृदय रोग का कारण बन सकता है. जिससे हार्ट अटैक होने की संभावना अधिक हो जाती है. इसलिए व्यक्ति को समय निकालकर एक्सरसाइज जरूर करना चाहिए.
3 .धूम्रपान करना-
आजकल ज्यादातर युवा पीढ़ी के लोग धूम्रपान के शिकार होते जा रहे हैं. धूम्रपान करने वालों को कैंसर और हृदय संबंधी कई तरह की समस्याएं होने की संभावना अधिक रहती है. सिगरेट और शराब ना सिर्फ व्यक्ति के फेफड़ों को नुकसान पहुंचाता है बल्कि यह दिल के लिए भी खतरनाक होता है.
4 .जंक फूड का सेवन करना-
जंक फूड की सच्चाई कोई अज्ञात नहीं है. इससे ज्यादातर लोग वाकिफ हैं कि यह हमारे सेहत के लिए नुकसानदायक होता है. फास्ट फूड से बचपन के मोटापे, हृदय रोग और मधुमेह और अन्य कई तरह की बीमारियां होने की संभावना अधिक हो जाती है. क्योंकि फास्ट फूड सिर्फ खाने में स्वादिष्ट होता है लेकिन इसमें पौष्टिकता की कमी होती है.

Third party image reference
5 .कम सोना-
आजकल की बदलती जीवन शैली में ज्यादातर लोग भरपूर नींद नहीं ले पाते हैं. रात को सोने से पहले लोग लैपटॉप, मोबाइल, कंप्यूटर आदि में टाइम पास करते रहते हैं और इस तरह आजकल के युवाओं में देर रात तक जागने की आदत पड़ गई है. ऐसा अक्सर देर रात तक चैटिंग करने या वीडियो देखने और गेम खेलने की वजह से नींद पूरा नहीं हो पाता है जो दिल के रोग उत्पन्न करने का कारण बनता है और हार्ट अटैक का खतरा अधिक हो जाता है.