Breaking News

अगर दिखाई दें ये 6 लक्षण, तो हो जायें सावधान क्योंकि आपकी जान खतरे में है

 एड्स मानवीय प्रतिरक्षी अपूर्णता विषाणु (एच.आई.वी) संक्रमण के बाद की स्थिति है, जिसमें मानव अपने प्राकृतिक प्रतिरक्षण क्षमता खो देता है। एड्स स्वयं कोई बीमारी नही है पर एड्स से पीड़ित मानव शरीर संक्रामक बीमारियों, जो कि जीवाणु और विषाणु आदि से होती हैं, के प्रति अपनी प्राकृतिक प्रतिरोधी शक्ति खो बैठता है क्योंकि एच.आई.वी रक्त में उपस्थित प्रतिरोधी पदार्थ लसीका-कोशो पर आक्रमण करता है। एड्स पीड़ित के शरीर में प्रतिरोधक क्षमता के क्रमशः क्षय होने से कोई भी अवसरवादी संक्रमण, यानि आम सर्दी जुकाम से ले कर क्षय रोग जैसे रोग तक सहजता से हो जाते हैं और उनका इलाज करना कठिन हो जाता हैं। एड्स वर्तमान युग की सबसे बड़ी स्वास्थ्य समस्याओं में से एक है यानी कि यह एक महामारी है। आइये जानते हैं एड्स के प्रमुख ६ लक्षणों के बारे में। अगर ये लक्षण दिखाई दें तो समझना चाहिए कि जान खतरे में है।


Image Source = Google
1.सूखी खांसी

Image Source = onlymyhealth.com
सूखी खांसी होना एड्स के लक्षणों में शामिल है। अगर किसी को खांसी नहीं हैं लेकिन मुंह में हमेशा कफ आता रहता है। मुंह का स्‍वाद खराब रहता है। इसमें से कोई भी लक्षण लगने पर एच आई वी टेस्‍ट जरूर करवाएं।
2.मसल्‍स में खिचाव

Image Source = onlymyhealth.com
भारी काम या शारीरिक श्रम किए बिना भी अगर किसी को मसल्‍स में हमेशा तनाव और अकड़न का एहसास होता है। तो यह एड्स का लक्षण होता है। तुरंत अपने चिकित्‍सक के पास जाएं।
3.थकावट महसूस होना

Image Source = onlymyhealth.com
बिना ज्‍यादा काम किए पिछले दिनों से ज्‍यादा थकान का होना या हर समय थकावट महसूस करना एड्स का शुरुआती लक्षण हो सकता है।
4.गला पकना

Image Source = onlymyhealth.com
गला पकाने की शिकायत अकसर तब होती है जब हम कम पानी पीते हैं। लेकिन अगर पर्याप्‍त मात्रा में पानी पीने के कारण भी गले में भयंकर खराश और पका हुआ महसूस होता है तो यह एड्स संभावित लक्षण है।
5.गिल्टियां होना

Image Source = onlymyhealth.com
एड्स होने पर शरीर पर सूजन भरी गिल्टियां हो सकती हैं, खासकर यह दर्दरहित गिल्टियां गले, बगल या जांघों आदि में होती है।
6.सिर व जोड़ों में दर्द

Image Source = onlymyhealth.com
ढ़लती उम्र से पहले ही अगर जोड़ों में दर्द और सूजन हो जाती है या फिर सिर में हर समया हल्‍का हल्‍का दर्द रहता है। य‍ह दर्द सुबह के समय दर्द में आराम और शाम तक दर्द बढ़ने लगता हे तो आपको एच आई वी टेस्‍ट करवाने की जरूरत है।