Breaking News

जिन लोगों के पास है SBI का ATM कार्ड उन लोगों के लिए बड़ी खबर, 18 सितम्बर से लागू होगा ये नया नियम

 


देश के सबसे बड़े बैंक, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने एटीएम फ्रॉड (ATM Fraud) के बढ़ते मामले को देखते हुए एटीएम से कैश निकासी के नियमों में बदलाव किया है. एसबीआई (SBI) ने ATM में वन टाइम पासवर्ड (OTP) बेस्ड ATM विड्रॉल सुविधा को 24×7 लागू करने का फैसला किया है. यह सुविधा देश भर के सभी एसबीआई एटीएम पर 18 सितंबर से लागू होगी. बता दें कि इससे पहले, SBI ने रात के समय में एटीएम फ्रॉड (ATM Fraud) से बचने के लिए ओटीपी आधारित एटीएम विड्रॉल (SBI OTP Based ATM Withdrawal) की सुविधा 1 जनवरी 2020 से शुरू की थी.  इसके तहत रात को 8 बजे से लेकर सुबह 8 बजे तक एसबीआई एटीएम (SBI ATM) से 10,000 रुपये और इससे ज्यादा कैश निकालते समय ओटीपी की जरूरत होती है.


चौबीसों घंटे होगी OTP की जरूरत
24x7 ओटीपी-आधारित नकदी निकासी सुविधा की शुरुआत के साथ, एसबीआई ने एटीएम नकदी निकासी में सुरक्षा स्तर को और मजबूत किया है. दिन भर इस सुविधा को लागू करने से एसबीआई डेबिट कार्डधारक धोखेबाजों, अनधिकृत निकासी, कार्ड स्किमिंग, कार्ड क्लोनिंग और अन्य जोखिम से बच सकेंगे

ओटीपी आधारित नकद निकासी की सुविधा केवल एसबीआई एटीएम में उपलब्ध है क्योंकि गैर-एसबीआई एटीएम में नेशनल फाइनेंशियल स्विच (एनएफएस) में विकसित नहीं की गई है. OTP एक सिस्टम-जेनरेटेड न्यूमेरिक स्ट्रिंग है, जो उपयोगकर्ता को एकल लेनदेन के लिए प्रमाणित करता है. एक बार जब ग्राहक एटीएम में विड्रॉल रकम दर्ज कर लेते हैं तो उसके बाद एटीएम स्क्रीन ओटीपी मांगेगी, जहां आपको अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर प्राप्त किए गए ओटीपी को दर्ज करना होगा.

एसबीआई के मैनेजिंग डायरेक्टर सीएस शेट्टी (रिटेल एंड डिजिटल बैंकिंग) ने कहा, 'एसबीआई तकनीकी सुधार और सुरक्षा स्तर में वृद्धि के माध्यम से अपने ग्राहकों को सुविधा और सुरक्षा सुनिश्चित करने में हमेशा सबसे आगे रहा है. हमें विश्वास है कि 24x7 ओटीपी प्रमाणित एटीएम निकासी से एसबीआई के ग्राहकों के पास सुरक्षित और जोखिम रहित नकदी निकासी का अनुभव होगा.'

कैसे काम करेगी एसबीआई की यह सुविधा?
>> SBI ATM से कैश निकालने के लिए ग्राहकों को पिन नंबर के साथ एक ओटीपी भी डालना होगा. यह ओटीपी उनके द्वारा SBI में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा.
>> SBI की ओटीपी बेस्ड एटीएम विड्रॉल सुविधा केवल 10 हजार रुपये से अधिक की निकासी पर ही उपलब्ध होगा.
>> SBI ने इस सुविधा को इसलिए पेश किया है ताकि एसबीआई डेबिट कार्ड होल्डर्स को किसी भी संभावित स्किमिंग या कार्ड क्लोनिंग से बचाया जा सके. इस प्रकार वो फ्रॉड से बच सकेंगे