Breaking News

Breaking News: भारत-चाइना के बीच जंग का माहौल, 45 साल में पहली बार हुई बॉर्डर पर गोलीबारी



सीमा पर जारी तनाव के बीच पूर्वी लद्दाख सेक्टर में वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास भारत और चीन के सैनिकों में गोलीबारी की घटना हुई है. सरकार से जुड़े शीर्ष सूत्रों का कहना है कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है.

एलएसी के पास दोनों देशों के सैनिकों के बीच लंबे समय से तनाव बना हुआ है और दोनों ओर से सैन्य तथा कूटनीतिक स्तर पर स्थिति को सामान्य करने की कोशिश की जा रही है. खास बात यह है कि 1975 के बाद सीमा पर भारत और चीन के सैनिकों के बीच इस तरह से पहली बार फायरिंग हुई है.

सूत्रों का कहना है कि चीन की ओर से भारतीय क्षेत्र में फायरिंग की गई जिसके बाद भारत की तरफ से जवाबी कार्रवाई की गई. दोनों पक्षों की ओर से फायरिंग हुई. फिलहाल स्थिति नियंत्रण में होने का दावा किया गया है.

चीनी रक्षा मंत्रालय, चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के वेस्टर्न थियेटर कमान के प्रवक्ता कर्नल झांग शुइली की ओर से देर रात दिए गए बयान में कहा गया कि भारतीय सैनिकों की ओर से कथित "उकसावे" की कार्रवाई की गई जिससे चीनी सैनिकों की ओर से जवाबी कार्रवाई (countermeasures) की गई. हालांकि भारत की ओर से अभी इस फायरिंग को लेकर कोई बयान नहीं आया है.  

दो चोटियों पर फिर से कब्जा चाहता है चीन

पीएलए वेस्टर्न थियेटर कमांड के प्रवक्ता कर्नल झांग शुइली ने यह भी खुलासा किया कि भारतीय सेना ने अवैध रूप से सोमवार को पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे के पास शेनपाओ पहाड़ में वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास को पार किया.

भारतीय सेना के सूत्रों ने पुष्टि की कि "वार्निंग शॉट्स" फायर किए गए थे. सीमा परतैनात सैनिक तब से हाई अलर्ट पर हैं, जब से उन्होंने काला टॉप और हेल्मेट टॉप को अपने नियंत्रण में लिया है और चीनी सैनिक इन दोनों चोटियों पर नियंत्रण हासिल करने के लिए आगे बढ़ रहे हैं.