Breaking News

संजय राउत का कंगना पर पलटवार, दिया बड़ा बयान



बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत अपने बेबाक बयानों से हमेशा सुर्खियों में बनी रहती हैं। हाल ही में कंगना ने मुंबई को लेकर बयान दिया था। कंगना के इस बयान को लेकर विवाद पैदा हो गया है। बता दें कि कंगना रनौत ने कहा था कि मुझे किसी ओर से नहीं मुंबई पुलिस से खतरा है। कंगना ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से की थी। जिसके बाद से शिवसेना नेता संजय राउत ने कंगना की इस टिप्पणी का विरोध किया था। अब संजय राउत ने कंगना पर एक बार फिर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग दुर्भावनापूर्ण इरादे से गलत जानकारी फैला रहे हैं कि पार्टी ने महिलाओं का अपमान किया है। पार्टी हमेशा महिलाओं के सम्मान के लिए लड़ती रहेगी।

एक्ट्रेस रनौत के बयान पर हमलावर होते हुए संजय राउत ने कहा कि जो आरोप लगा रहे हैं, उन्हें यह नहीं भूलना चाहिए कि उन्होंने ही मुंबई और उनकी मुंबा देवी का अपमान किया है। राउत ने ट्वीट किया, 'शिवसेना हिंदुत्व के प्रतीक महान छत्रपति शिवाजी महराज की विचारधारा को फॉलो करती है। उन्होंने हमें महिलाओं का सम्मान करना सिखाया है। कुछ लोग दुर्भावनापूर्ण इरादे से गलत सूचना फैला रहे हैं कि शिवसेना ने महिलाओं को अपमानित किया है।'

उन्होंने आगे कहा, 'लेकिन, सभी को यह नहीं भूलना चाहिए कि जो ऐसे आरोप लगा रहे हैं, उन्होंने ही मुंबई और मुंबा देवी का अपमान किया है। शिवसेना महिलाओं के सम्मान के लिए लड़ती रहेगी। यही हमारे शिवसेना सुप्रीमो ने सिखाया है।'

शिवसेना सांसद संजय राउत और एक्ट्रेस कंगना रनौत पिछले कुछ दिनों से एक दूसरे पर हमलावर हैं। राउत और रनौत के बीच यह विवाद तब शुरू हुआ, जब एक्ट्रेस ने कहा कि वह सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद मुंबई में सुरक्षित महसूस नहीं करती हैं। कंगना ने ट्विटर पर दावा किया कि संजय राउत ने उन्हें धमकी दी है। एक्ट्रेस ने कहा, 'शिवसेना नेता संजय राउत ने मुझे खुले तौर पर धमकी दी है और मुंबई नहीं आने के लिए कहा है। मुंबई की सड़कों पर आजादी के नारे लगने के बाद अब खुले तौर पर धमकी दी जा रही है। क्यों मुंबई पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर की तरह लग रहा है?'

राउत पर 'महिलाओं का शोषण करने वालों को सशक्त' बनाने का आरोप लगाते हुए कंगना रनौत ने कहा कि देश की बेटियां कभी भी उन्हें माफ नहीं करेंगी। रनौत ने वीडियो पोस्ट कर कहा था, 'यह आपकी सोच के बारे में बताता है... अगर मैं आपकी या फिर मुंबई पुलिस की आलोचना करती हूं तो इसका यह मतलब नहीं है कि मैं महाराष्ट्र का अपमान कर रही हूं। आप महाराष्ट्र नहीं हैं। आप लोग मुझे धमकी दे रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद भी मैं 9 सितंबर को मुंबई आ रही हूं।'