Breaking News

अब चीन की खैर नहीं, भारत को जल्दी ही ये घातक हथियार देने वाला है अमेरिका



दुनियाभर के देश लामबंद हो रहे हैं और एक दूसरे की मदद के लिए हाथ बढ़ा रहे हैं। इसी कड़ी में चीन पर निगाह रखने के लिए अमेरिका भारत को घातक हथियार देने जा रहा है। अमेरिका भारत को MQ-9A रीपर ड्रोन देने जा रहा है। ये ड्रोन बेहद ही सतर्क और खतरनाक हैं। इससे न सिर्फ चीन बल्कि पाकिस्तान भी परेशान हो गया है।

दरअसल वेपंस सिस्‍टम से लेकर मिसाइल टेक्‍नोलॉजी तक भारत में ही डेवलप करने को प्राथमिकता दी जा रही है। मगर जरूरत के मुताबिक, विदेश से भी खरीद हो रही है। चीन के साथ लद्धाख में पर तनाव को देखते हुए भारत ने अपनी रक्षा खरीद को तेज कर रहा है। जानकारी के मुताबिक रक्षा मंत्रालय अमेरिका से 30 जनरल एटॉमिक्स एम क्यू- 9 रीपर ड्रोन खरीदने की तैयारी में है। यह डील करीब 22,000 करोड़ रुपये में हो सकती है। डील दो हिस्‍सों में होगी। पहले छह रीपर मीडियम ऑल्टिट्यूड लॉन्‍ग एंड्योरेंस ड्रोन्‍स खरीदे जाएंगे जिनकी डिलीवरी अगले कुछ महीनों में हो जाएगी। बाकी 24 ड्रोन्‍स अगले तीन साल में डिलीवर होंगे।

अमेरिका से 30 ड्रोन की खरीद का प्रस्‍ताव रक्षा अधिग्रहण परिषद के सामने रखा जाएगा। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इसके अध्‍यक्ष होते हैं। डील के पहले हिस्‍से में 4,400 करोड़ रुपये से छह MQ-9 ड्रोन फौरन खरीदे जाएंगे। डिलीवरी अगले कुछ महीनों में हो सकती है। बाकी 24 में से आठ-आठ ड्रोन हर सेना को मिलेंगे। उनकी डिलीवरी अगले तीन साल के भीतर हो सकती है। भारत करीब तीन साल से यह ड्रोन्‍स खरीदने की कोशिश में है। हालांकि यह साफ नहीं है कि पहले बैच में हेलफायर और अन्‍य हवा से जमीन में मार करने वाली मिसाइलें लगी होंगी या नहीं।

आपको बता दें कि यह वही ड्रोन है जिससे अमेरिका ने ईरानी जनरल सुनेमानी को बगदाद एयरपोर्ट के पास मार गिराया था। अमेरिका के इस ड्रोन ने ऐसा काम किया था कि पूरी दुनिया हैरान रह गई। ये ड्रोन पहले तो ईरान के अंदर पहुंचा। ईरानी के रडार इसे पकड़ तक नहीं पाए। फिर ये बगदाद एयरपोर्ट के आकाश पर बहुत ऊपर मंडराता रहे ताकि जनरल सुलेमानी पर हमला कर सके। जैसे ही जनरल सुनेमानी बगदाद एयरपोर्ट से निकलकर अपनी कार पर बैठने जा रहे थे। इसने नीचे की ओर आकर ऐसा हमला किया कि सुलेमानी की कार के परखच्चे उड़ गए