Breaking News

तेजी से फैल रही है पानी से होने वाली बीमारियां, ये घरेलू चीजें देंगी राहत



कोरोना महामारी का दौर तो चल ही रहा है। लेकिन साथ-साथ पानी से होने वाली बीमारियां भी बड़ी तेजी से फैल रही है। बरसात के मौसम में यह समस्याएं और भी ज्यादा बढ़ जाती हैं। और इन समस्याओं के चलते कई सारी संक्रामक बीमारियां भी फैलने लगती है। लेकिन आज हम आपको ऐसी कुछ चीजों के बारे में बताएंगे जिनकी मदद से आप इन मौसमी बीमारियों से खुद का बचाव कर सकते है।

तुलसी का करें सेवन

 तुलसी का काढ़ा बहुत लोग मौसमी बीमारियों से राहत पाने के लिए इस्तेमाल करते हैं।  क्योंकि तुलसी में ऐसे कई गुण मौजूद होते हैं जो कि मौसमी बीमारियों से लड़ने की क्षमता रखते हैं। तुलसी में आयरन एंटी ऑक्सीडेंट, एंटी इंफ्लामेन्ट्री  गुण और एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती है जो कि शरीर की रोग रोधक क्षमता का विकास करती है।

भोजन में करे लहसुन का प्रयोग

लहसुन का इस्तेमाल हर भारतीय रसोई में सब्जी में खुशबू और स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है।  लेकिन आप इसका इस्तेमाल रोग  प्रतिरोधक क्षमता का विकास करने के लिए भी कर सकते हैं। जो कि आज की महामारी के दौर में सबसे ज्यादा जरूरी है। क्यूंकि यदि हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होगी तो हम बीमारी की चपेट में जल्दी आ सकते हैं।  इसलिए इन संभावनाओं को घटाने के लिए आप अपने भोजन में लहसुन का सेवन करें।

 कच्चे टमाटर है सेहत का खजाना

जैसे कि आप जानते हैं कि टमाटर एंटीऑक्सीडेंट से भरा होता है। साथ ही  शरीर में हीमोग्लोबिन और ब्लड के सर्कुलशन के लिए भी उत्तरदाई होता है। इसलिए आप इस मानसून में टमाटर का इस्तेमाल सब्जी, सलाद, जूस में खूब करें। यह भी आपको संक्रामक रोगों से बचाने में मदद करेगा।

पुदीना है गुणकारी

पुदीने का इस्तेमाल कई लोग दाल, चटनी, सलाद आदि में करते हैं। यही नहीं पुदीना उन चुनिंदा नेचुरल हर्ब्स की लिस्ट में शामिल है जिनमें एंटी फंगल एंटी बैक्टीरियल गुणों की भरमार होती है। इनकी मदद से ना सिर्फ आप मौसमी बीमारियों से सुरक्षित रह सकते हैं। बल्कि अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता का भी विकास कर सकते हैं।पुदीने का पानी भी शरीर को ठंडक पहुचाता है।और एसिडिटी की समस्यां को भी करता है।