Breaking News

कोरोना को हराने में जी जान से लगे हुए CM अरविंद केजरीवाल, किया 200 बेड्स वाले कोरोना हॉस्पिटल का उद्घाटन


बीते कुछ समय में राजधानी दिल्ली में कोरोना के नए मामलों की रफ़्तार तो कम हुई है. लेकिन संक्रमण के नए मामलों के मिलने का सिलसिला जारी है. ऐसे में कोरोना पर काबू पाने के लिए केजरीवाल सरकार लगातार कोशिशें कर रही है. रविवार को इस सिलसिले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अंबेडकर नगर अस्पताल(Ambedkar Hospital) में कोविड-19 मरीजों के लिए 200 बेड वाले एक नए अस्पताल का उद्घाटन किया है.

सीएम केजरीवाल ने जिस अस्पताल का उद्घाटन किया है. उस अम्बेडकर अस्पताल(Ambedkar Hospital) में 200 बेड की सुविधा के साथ कोरोना मरीजों का इलाज शुरू किया गया है लेकिन इसमें कुल 600 बेड की क्षमता है, जो आने वाले दिनों में पूरी तरह से क्रियान्वन में आ पाएंगे. अंबेडकर अस्पताल की इस नई बिल्डिंग में 200 बेड की सेवाओं का उद्घाटन करते हुए सीएम केजरीवाल ने कहा कि इससे स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे को और मजबूती मिलेगी.
मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि अगर दिल्ली में कोरोना की स्थिति फिर बिगड़ती है तो सरकार उसका सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार है. उन्होंने बताया कि अंबेडकर अस्पताल में शुरू हुए इन 200 बेड पर ऑक्सीजन सेवाएं उपलब्ध हैं और अगले डेढ़ महीने के भीतर 600 बेड के साथ पूरा अस्पताल सौ प्रतिशत काम करने लग जाएगा.
उद्घाटन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा, “वर्तमान में दिल्ली के अंदर कोरोना की स्थिति काफी हद तक काबू में है. दिल्ली में सभी पैरामीटर अच्छे हो रहे हैं. मरीजों के ठीक होने की दर लगातार बढ़ रही है. कोरोना पॉजिटिव मरीजों की औसत भी पहले की तुलना में काफी कम हुई है. मौतें भी कम हो रही हैं. इसका असर दिख रहा है. अस्पतालों में मरीजों की संख्या बहुत कम हो गई है. मैं भगवान से प्रार्थना करता हूं कि आज मैंने जिस 200 कोरोना बेड का उद्घाटन किया है, किसी को इसकी जरूरत ही न पड़े. लेकिन स्थिति अगर फिर से बिगड़ती भी है तो हम उसका सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं.’
अगर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के मौजूदा हालात की बात करें तो राजधानी में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 1,300 मामले सामने आए हैं. जिससे दिल्ली में अब संक्रमण मामलों का कुल आंकड़ा 1,45,427 हो गया है. हालाँकि इनमे से कुल 1,30,587 लोग ठीक हो चुके हैं. लिहाजा एक्टिव मामलों की संख्या 10,729 है. वहीं अगर टेस्टिंग की बात करे तो राजधानी में प्रतिदिन औसतन 20-22 हजार से अधिक टेस्ट हो रहे है.