Breaking News

कोरोना वैक्सीन के केवल एक डोज से नहीं मिलेगी वायरस से निजात: अमेरिकी वैज्ञानिक



दुनियाभर के वैज्ञानिक कोरोना वायरस की वैक्सीन तैयार करने की जद्दोजहद में जुटे हुए हैं। वहीं, अमेरिका के वैज्ञानिकों ने कहा है कि वैक्सीन के तैयार होने पर केवल एक डोज से काम नहीं चलने वाला है। वैज्ञानिकों का कहना है कि लोगों को दो डोज की जरूरत पड़ सकती है और यही सबसे बड़ी चुनौती है। 

वर्तमान समय में, दुनियाभर में टेस्टिंग किट, पीपीई किट और दूसरी जरूरी चीजों की कमी है। ऊपर से दो बार वैक्सीनेशन का प्रोग्राम चलाना दुनियाभर के देशों के सामने एक बड़ी चुनौती बनकर उभरेगा। 

वहीं, अन्य बड़ी समस्याओं में खुद मानव ही शामिल है। लोगों को इस बात के लिए मनाना कि उन्हें एक नहीं बल्कि वैक्सीन के दो डोज की जरूरत पड़ेगी, खुद में ही एक बड़ी समस्या है। ऐसा भी हो सकता है कि कुछ लोग वैक्सीन के दुष्प्रभाव से डरकर वैक्सीन न लगावाएं। 

वैंडरबिल्ट विश्वविद्यालय की हेल्थ पॉलिसी प्रोफेसर डॉ केली मूर ने कहा, इसमें कोई दो राय नहीं है कि यह सबसे बड़ी चुनौती बनकर सामने आएगा। यह मानव इतिहास का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन प्रोग्राम होगा। इसे पूरा करने में हमें बहुत मेहनत करनी पड़ेगी। हमने अभी तक इतना बड़ा प्रोग्राम नहीं चलाया है।