Breaking News

जब बीच मैच में पूरी दुनिया ने देखा था धोनी का गुस्सा, अंपायर से हो गई थी तीखी बहस

 

पूर्व भारतीय खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी अपने करियर में हमेशा शांत रहते  हुए फैसले लेते नजर आये लेकिन अपने शायद ही देखा हो जब ‘कैप्टन कूल’ ने तनावपूर्ण परिस्थितियों में मैदान पर अपना आपा खो दिया. आपको बता दें कि पिछले साल इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) मैच के दौरान धोनी ने अपना आपा खो दिया था और वह बीच मैदान में आकर अंपायर से बहस कर लिया था.

चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) और राजस्थान रॉयल्स (RR) के बीच मुकाबले में वह खेल के दौरान ही मैदान में घुस गए थे. मैच का अंतिम ओवर था और चेन्नई सुपर किंग्स को जीत के लिए 18 रनों की दरकार थी. बेन स्टोक्स ने फुल टॉस गेंद फेंकी और अंपायर उल्हास गांधी ने इसे ‘नो बॉल’ करार कर दिया और फिर अचानक अपने फैसले से पीछे हट गए. इससे धोनी को गुस्सा आ गया और वह मैदान के अंदर घुस गए जिसके कारण उनकी मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया था.

इस घटना को याद करते हुए अंपायर गांधी ने ज्यादा कुछ नहीं कहा, उन्होंने कहा, ‘मैं सिर्फ यही कह सकता हूं कि नियत प्रक्रिया का पालन किया गया था.’ हालांकि एक पूर्व बीसीसीआई अंपायर ने यह भी कहा, ‘इसमें अंपायर और धोनी दोनों गलत थे.’ एक और घटना थी जब धोनी ने 2012 में ऑस्ट्रेलिया में सीबी सारीज के दौरान अंपायर बिली बाउडेन पर ऊंगली उठाई थी. तीसरे अंपायर ने माइक हसी को स्टंप आउट का फैसला किया, लेकिन रिप्ले में दिख रहा था कि उनका एक पैर क्रीज के अंदर था.