Breaking News

भारत से पंगा लेने के बाद लगातार मुंह की खा रहा है चाइना, अब गूगल ने किया बैन


Google ने अपने सर्च इंजन से चीन से जुड़े 2,500 से अधिक यूट्यूब चैनलों को हटा दिया है। Google का कहना है वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म पर चीन से जुड़े ये चैनल गलत और भ्रामक जानकारी फ़ैलाने की कोशिश कर रहें थे। कंपनी ने कहा कि इन चैनल्स को अप्रैल और जून के बीच हटाया गया है, “चीन से जुड़े इन चैनल्स पर चल रही जांच के बाद ये कदम उठाया गया है।”

भ्रामक सूचना फैलाने की जांच पर निकले एक तिमाही बुलेटिन में गूगल ने कहा कि आमतौर पर यह चैनल स्पैम और नॉन-पॉलिटिकल कंटेंट पोस्ट करते थे, लेकिन वाडियो एक छोटा सा हिस्सा पॉलिटिक्स से जुड़ा होता था। Google ने इन चैनलों की जानकारी या नामों को उजागर नहीं किया है, लेकिन कुछ इसी तरह की गतिविधियों को ट्विटर और सोशल मीडिया एनालिटिक्स कंपनी ‘ग्राफिका’ ने भी स्पॉट किया था।

इस कार्यवाही को लेकर अमेरिका में चीनी दूतावास ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। इससे पहले भी बीजिंग भ्रामक सूचना फैलाने के आरोपों से इनकार करता रहा है। अमेरिकी राजनीतिज्ञों और तकनीशियनों के लिए 2016 के राष्ट्रपति चुनाव के बाद से विदेशी संस्थाओं द्वारा भ्रामक सूचना फैलाने का मामला एक चिंता का विषय बन गया है। तब रूसी सरकार से जुड़े कई संस्थाओं ने हजारों भ्रामक संदेश सोशल मीडिया में पोस्ट किए थे।

2016 के दोहराए जाने से बचने के लिए Google और Facebook जैसी कंपनियों ने नियमित रूप से अपडेट जारी किए है और यह बताया है कि वे किस तरह से ऑनलाइन प्रोपेगेंडा से मुकाबला कर रहे हैं।