Breaking News

श्रीराम के बाद अब गौतम बुद्ध को लेकर हुआ भारत और नेपाल में विवाद


नेपाल में अब भारतीय देवी-देवताओं, महापुरुषों पर विवाद पैदा करना शुरू कर दिया है. भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर के द्वारा गौतम बुद्ध को भारतीय कहे जाने पर नेपाल ने आपत्ति दर्ज कराई है और गौतम बुद्ध को नेपाली बताया है. साथ ही नेपाल के कई राजनेताओं ने भी जयशंकर के बयान का विरोध किया. भारत के साथ सीमा विवाद को लेकर उलझे नेपाल के विदेश मंत्रालय ने ऐतिहासिक और पौराणिक तथ्यों का हवाला देते हुए कहा कि गौतम बुद्ध का जन्म नेपाल के लुंबिनी जगह पर हुआ था.

बता दे विदेश मंत्री जयशंकर ने भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए बताया था कि महात्मा गांधी और गौतम बुद्ध दो ऐसे भारतीय महापुरुष हैं जिन्हें दुनिया हमेशा याद रखती है. उन्होंने कहा कि अगर कोई मुझसे पूछे कि सबसे महान भारतीय कौन है? जिन्हें आप याद रखते हैं तो मैं कहूंगा कि पहले गौतम बुद्ध और दूसरे महात्मा गांधी है. यह दोनों ऐसे भारतीय महापुरुष हैं जिन्हें दुनिया हमेशा याद रखती है जयशंकर के इसी बयान पर नेपाल ने आपत्ति जताते हुए आधिकारिक विरोध जारी किया है.

नेपाल का कहना है कि 2014 में नेपाल यात्रा के दौरान भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी नेपाल संसद को संबोधित करते हुए कहा था कि नेपाल ऐसा देश है जहां विश्व में शांति का उद्घोष हुआ है और भगवान गौतम बुद्ध का जन्म हुआ है.