Breaking News

देश के नेता कोरोना से भी ज्यादा खतरनाक हैं, लोगों को तिल-तिल मार रहे हैं: पप्पू यादव


बिहार में इसी साल के अंत में विधानसभा चुनाव(Bihar Assembly Election 2020) होने है. लेकिन राज्य एक तरफ कोरोना के आतंक तो दुसरे तरफ बाढ़ के भयावहता से दो-चार हो रहा है. कई इलाकों में जलजमाव की ऐसी समस्या है कि लोग दो जून की रोटी को बेबस है. सूबे के इन हालातों के लिए जाप सुप्रीमो पप्पू यादव(Pappu Yadav) ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराया है. पप्पू यादव ने बिहार के बाढ़ को राज्य के नेताओ का देन करार दिया है.

सूबे के आरा में जनसभा को संबोधित करने पहुंचे जन अधिकार पार्टी के सुप्रीमो पप्पू यादव(Pappu Yadav) ने कहा कि बिहार का बाढ़ पॉलिटिशियन की देन है. बाढ़ पॉलिटिशियन का नाजायज औलाद है. उनके पाप और कुकर्मों का फल है. बिहार में बाढ़ आपदा के बीच डबल इंजन की सरकार राजनीति करने में जुटी हुई है.
पप्पू यादव ने कहा कि कोरोना महामारी के बीच सभी नेता अपनी जान की फिक्र कर रहे हैं और जनता को मरने के लिए सड़क पर छोड़ दिए हैं. बिहार के मुख्यमंत्री अपनी मस्ती में हैं. 5 महीने बाद घर से निकलकर हवा-हवाई की राजनीति कर रहे हैं. पप्पू यादव ने सीएम नीतीश को घर से निकल कर लोगों के बीच जाने की चुनौती तक दे डाली.
राम मंदिर भूमि पूजार को लेकर पप्पू यादव(Pappu Yadav) ने कहा, “हम राम मंदिर निर्माण से खुश हैं. अयोध्या में राम के भव्य मंदिर निर्माण का फैसला सुप्रीम कोर्ट का है, इस फैसले से पूरा देश खुश है. राम मंदिर निर्माण पर सियासत करने की कोई जरूरत नहीं है. इसपर कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए. जो लोग राजनीति कर रहे हैं, वे इमोशनल ब्लैकमेलर हैं. ये लोग ब्लैकमेलिंग करते हैं. लोगों के इमोशन के साथ खेलते हैं.”
‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना’ के जरिये पीएम मोदी का बिना नाम लिए उनपर हमला बोलते हुए पप्पू यादव ने कहा, “जा चुनाव आता है तो भोजपुरी और मैथिली में ट्वीट कर लोगों को इमोशनल ब्लैकमेल करते हैं. 5 किलो अनाज और एक किलो दाल देकर लोगों को ब्लैकमेल किया जा रहा है. जब चुनाव आता है तब लोग नवंबर याद करते हैं. लोग छठी मइया को याद करने लगते हैं. आरा में पीएम ने सवा लाख करोड़ रुपये का घोषणा किया था, जो आजतक नहीं मिला.”
मधेपुरा से सांसद रहे पप्पू यादव ने कहा कि बिहारी की औकात सिर्फ 5 किलो अनाज की नहीं है. 5 किलो अनाज हर पॉलिटिशियन और माफिया को पप्पू यादव जिंदगी भर खिला सकता है. केंद्र सरकार एक किलो दाल की बात न करे क्योंकि पप्पू यादव बिहारियों को 4 महीने तक खाना खिला सकता है.
देश और प्रदेश में कोरोना वायरस की बद से बदतर होते हालत पर जाप सुप्रीमो ने कहा, “करोना का इलाज तो वैक्सीन आने पर हो जाएगा! पर, बिहार को तिल-तिल मार रहे नेताओं का इलाज क्या होगा ? उनका वैक्सीन कब आएगा ? नेता लोग कोरोना से बड़ा वायरस है. इनकी वैक्सीन कब आएगी, भगवन जानें. इनलोगों का इलाज सिर्फ ‘पप्पू वैक्सीन’ से होगा.”