Breaking News

काश सोनू सूद हमारे देश के प्रधानमंत्री होते, मजदूरों के बाद बनाने वाले हैं इन बच्चों का भविष्य


कोरोना काल में अभिनेता सोनू सूद लोगों के लिए एक मसीहा बन कर उभरे हैं। सोनू सून ने लॉकडाउन में प्रवासी मजदूरों और छात्रों को उनके घर पहुंचाने में काफी मदद की है। इतना ही नहीं उन्होंने प्रवासी मजदूरों के लिए 1 लाख नौकरियां देने का भी करार किया है। इस बीच सोनू सूद ने पंजाब के अनाथ बच्चों की जिम्मेदारी उठाने का फैसला किया है।

एक्टर सोनू सूद से लोग सोशल मीडिया के जरिए मदद की गुहार लगाते रहते हैं। एक शख्स ने ट्विटर पर सोनू सूद को टैग करते हुए पंजाब के अनाथ बच्चों के लिए लिखा, 'इन छोटे बच्चों हाल ही में हुई पंजाब त्रासदी में अपने माता-पिता को खो दिया है। इन्हें खाना खिलाने वाला और इनका भविष्य बनाने वाला कोई नहीं है। यह बच्चे पढ़ना चाहते थे लेकिन अब नहीं लगता कि ऐसा मुमकिन है।'

सोनू सूद ने शख्स के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, 'मैं इस बात का पूरा ख्याल रखूंगा कि पंजाब के इन बच्चों को अच्छे घर मिलेंअच्छा स्कूल मिले और इनका भविष्य उज्जवल बने। हम आपसे कल बात करेंगे।सोशल मीडिया पर सोनू सूद का यह ट्वीट खूब वायरल हो रहा है। इससे पहले सोनू सूद तेलंगाना के तीन अनाथ बच्चों की जिम्मेदारी उठाने का फैसला कर चुके हैं। 

गौरतलब है कि बीती दिनों सोनू सूद तेलंगाना के यदाद्रि-भुवनगिरि जिले के तीन अनाथ बच्चों की मदद के लिए आगे आए और उन्होंने इन बच्चों की जिम्मेदारी उठाने का फैसला किया है। एक व्यक्ति ने ट्विटर पर तीन अनाथ बच्चों की जानकारी उनसे साझा की। जिसमें उसने बताया कि इन तीन बच्चों ने अपने माता-पिता को खो दिया है। इनका न कोई बड़ा भाई है और न ही कोई ऐसा इंसान जो इनकी देखभाल कर सके। यह बच्चे आपकी मदद चाहते हैं। इनकी मदद कीजिए।