Breaking News

इस साल स्वतंत्रता दिवस समारोह में शामिल नहीं होंगे स्कूली बच्चे, कोरोना के चलते लिया गया फैसला


दिल्ली के लाल किले पर स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) समारोह की तैयारियां शुरू हो चुकी है. इस कार्यक्रम में हर साल करीब 10 हजार स्कूली बच्चे शामिल होते थे लेकिन इस बार स्कूली बच्चों को इस समारोह में शामिल नहीं किया जाएगा. कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए यह फैसला लिया गया है.

आपको बता दें कोरोना महामारी के कारण मार्च माह से देश भर के सभी स्कूलों और कॉलेजों को बंद रखा गया है. बच्चों की पढ़ाई ऑनलाइन कक्षाओं के माध्यम से जारी है. 15 अगस्त (Independence Day)के कार्यक्रम में हर साल स्कूली बच्चे शामिल होते हैं लेकिन कोविड-19 के कारण इस साल बच्चों को नहीं बुलाया जाएगा.
इसी के साथ वीआईपी लिस्ट भी छोटी कर दी गई है. प्रत्येक वर्ष इस समारोह में 25 हजार अतिथि शामिल होते थे. स्कूली बच्चों की जगह इस बार 500 एनसीसी कैडेट्स को स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) समारोह में बुलाया गया साथ ही कोरोना वॉरियर्स भी समारोह में शामिल होंगे. कोरोना काल को देखते हुए इस बार तैयारियां भी अलग तरीके से हो रही है. सभी कुर्सियों के बीच दो- दो गज की दूरी रखी गई है. समारोह की तैयारी करने वाला हर शख्स अपने मुंह पर मास्क लगाकर अपने काम को अंजाम दे रहा है.
उत्तर दिल्ली की डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने तैयारियों को लेकर बताया कि इस बार सुरक्षा के भी कई खास इंतजाम किए गए हैं. लाल किला और इसके आसपास के इलाकों में लगभग 300 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे. कार्यक्रम के दौरान सभी गेटों पर दिल्ली पुलिस और पैरा मिलिट्री फोर्स के जवान तैनात रहेंगे.
बता दें दिल्ली पुलिस की 15 अगस्त से पहले हर साल पड़ोसी राज्यों के साथ कोऑर्डिनेशन मीटिंग होती है. इस साल यह मीटिंग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए की गई है. ऑनलाइन मीटिंग में करीब 9 राज्यों के पुलिसकर्मियों ने भाग लिया और आतंकियों से जुड़े इनपुट पर चर्चा की. मीटिंग में दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, जम्मू कश्मीर, झारखंड, चंडीगढ़ के पुलिस अधिकारियों ने हिस्सा लिया. इस मीटिंग में समारोह के दौरान तैनात पुलिसकर्मियों के वेरिफिकेशन पर जोर दिया गया है.