Breaking News

मध्यप्रदेश मेँ उपचुनाव, राम जी किसकी नैया लगाएँगे पार?

 

Madhya pradesh: राम मंदिर के शिलान्यास के तुरंत बाद ही MP में अब BJP और Congress इसी मुद्दें पर अब सियासी जुंग लेने में जुट गई है। पीएम मोदी के हाथों से राम मंदिर के शिलान्यास को BJP अब अपने घोषणा पत्र में किए गए सबसे पुराने और बिबादित वादे को पूरा होने का हवाला देते हुए सीधे क्रेडिट लेते हुए दिखाई दे रही है।  

MP BJP के प्रमुख रणनीतिकार और गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने राम मंदिर के निर्माण कार्य शुरू होने को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि BJP ही एक अकेली ऐसी पार्टी है जो कहती हैं उससे पूरा करती है। हमने कहा था कि राम की कसम खाके कहते हैं की मंदिर वही बनेगा और अब देखो मंदिर निर्माण कार्य शुरू भी हो गया है। 

और साथ ही उन्होंने राम मंदिर के बहाने BJP के प्रमुख चुनावी एजेंडे तीन तलाक और जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने का जिक्र करते हुए कहा कि हमने कहा था कि हमारे देश में दो विधान, दो निशान, दो प्रधान नहीं चलेंगे। और हमने करके दिखाया आज कश्मीर और भारत का संविधान एबं झंडा एक ही है।

अयोध्या में राममंदिर के भूमिपूजन पर BJP के बड़े-बड़े  नेता भगवान राम की भक्ति में लीन दिखाई दिए। कोरोना महामारी के चलते भले ही पार्टी ने सार्वजनिक तौर पर कोई बड़ा प्रोग्राम नहीं किया हो लेकिन आने वाले समय में पार्टी राम मंदिर को मुद्दें के जोर-शोर से जनता के बीच ले जाने की तैयारी कर ली है।

वहीं दूसरी ओर उपचुनाव में जीत के रास्ते सत्ता में वापसी की उम्मीद देख रही Congress राम मंदिर के मुद्दे पर BJP से आगे निकलने की जद्दो ज़हद में लगी हुई  है। PCC चीफ कमलनाथ प्रदेश ही नहीं देश में Congress ने उन पहले बड़े नेताओं में शामिल थे जिन्होंने न केवल राममंदिर के भूमिपूजन का समर्थन किया बल्कि एक दिन पहले भगवाधारी हो कर हनुमान चालीसा का पाठ किया। इसके साथ 5 अगस्त को प्रदेश कांग्रेस ऑफिस में भगवान राम का बड़ा फोटो लगाकर जश्न भी मानाया।