Breaking News

मंदिर में भूलकर भी न करें ये 5 गलतियाँ, नहीं तो..


अक्सर लोग मन की शांति और भगवान से आशीर्वाद लेने के लिए मंदिर जाते हैं। चाहे हिंदू हो, मुस्लिम या क्रिश्चियन सभी धर्म के लोग ईश्वर पर आस्था रखते हैं। मन को शांत करने के लिए व्यक्ति मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा या चर्च जाता है। सनातन धर्म में माना जाता है कि भगवान के दर्शन के साथ ही व्यक्ति को पुण्य भी प्राप्त होता है।

लेकिन कई बार जाने-अनजाने में हम मंदिर में कुछ गलतियां कर बैठते हैं। जिससे हमें भगवान का आशीर्वाद और पुण्य दोनों ही नहीं मिलते हैं। जानिए आखिर मंदिर में कौन सी बातों का ध्यान रखना होता है बेहद जरुरी-


1. किसी के सामने न हों खड़े-

मान्यता है कि मंदिर में हमेशा भक्ति-भाव के साथ जाना चाहिए। वहीं अगर कोई व्यक्ति भगवान के दर्शन कर रहा हो तो उससे आगे निकलकर उसके सामने नहीं खड़े होना चाहिए।

2. उल्टे हाथ की ओर से परिक्रमा-

कई बार लोगों की जानकारी की नहीं होती है कि परिक्रमा किस ओर से शुरू करनी चाहिए। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, परिक्रमा हमेशा उल्टे हाथ से शुरुकर सीधे हाथ की ओर खत्म करनी चाहिए।

3. बेल्ट न पहनें-

आपने देखा होगा कि कई मंदिरों के बाहर चेकिंग के दौरान बेल्ट को निकला दिया जाता है। ऐसे में मंदिर जाते समय बेल्ट या चमड़े से बनी कोई चीज नहीं ले चाहिए। चमड़े को अशुद्ध माना जाता है।

4. मूर्ति के सामने न आएं-

कहते हैं कि मंदिर में कभी भी भगवान की मूर्ति के सामने नहीं खड़े होना चाहिए। मान्यता है कि भगवान की मूर्ति से तेज ऊर्जा निकलती है। जिसे मानव का सहनकर पाना असंभव होता है।

5. मंदिर में जोर से बोलना या हंसना-

कहा जाता है कि मंदिर में कभी भी जोर से हंसना या बात तकरना नहीं चाहिए। कहते हैं कि अगर आप ऐसा करते हैं तो कई लोगों को पूजा में बाधा आती है। माना जाता है कि ऐसा करने से भगवान रुठ सकते हैं।