Breaking News

क्रडिट कार्ड से जुड़ी 3 ऐसी बातें जो सिर्फ लोगों की गलतफहमियां है



क्रेडिट कार्ड (Credit Card) ज्यादातर लोग ये नाम सुनते ही डर जाते हैं और उन्हें लगता है कि क्रेडिट कार्ड का मतलब है कि मुसीबत अपने सर पर लेना. यही नहीं क्रडिट कार्ड से जुड़ी कई ऐसी बातें हैं, जो सिर्फ लोगों की गलतफहमियां है, जिन्हें लोग सच मानते हैं. आज हम आपको क्रेडिट कार्ड से जुड़ी कुछ गलतफहमियों के बारे में बताने जा रहे हे

पहली गलतफहमी –

सबसे पहले आपको बता दें कि अगर आप क्रेडिट कार्ड (Credit Card) का इस्तेमाल  सही तरीके से करेगें तो ये आपकी फाइमेंशियल हेल्थ को और ज्यादा बेहतर बनाएं रखता है. साथ ही ये आपके क्रेडिट स्कोर (Credit score) को भी बढ़ाने में मदद करता है. जबकि ज्यादातर लोगों को ऐसा लगता है कि क्रडिट कार्ड का मतलब कर्ज के जाल में फंसना होता है, जबकि ऐसा नहीं है. बस आपको सही तरीके से इसका इस्तेमाल करना है.

दूसरी गलतफहमी –

दूसरी गलतफहमी जो लोगों को है, वो ये है कि क्रेडिट की सीमा को बढ़ाने से कर्जा बढ़ेगा. जबकि ऐसा नहीं है, खर्चा तभी बढ़ेगा जब आप अपने खर्च को बढ़ायेगें. अगर आपको जितनी जरूरत है आप उतना ही इस्तेमाल करेगें तो आपका कर्जा क्यों बढ़ेगा. आप अपनी जरूरता के हिबास से ही खर्चा करें फालतू खर्चा करने से बचें. बढ़ी हुई सीमा न केवल उनके फाइनेंसियल हेल्थ को बेहतर बनाने में मदद कर सकती है, बल्कि तत्काल वित्तीय आपात स्थितियों को पूरा करने में भी मदद करती है.
10 Best Credit Cards in India for Cashback (2020) | CardInfo

तीसरी गलतफहमी –

तीसरी गलतफहमी पुराने क्रेडिट कार्ड को बंद करने से क्रडिट स्कोर (Credit score) में सुधार होता है. जबकि ऐसा नहीं है, किसी भी क्रेडिट कार्ड को बंद करने से आपकी कुल उपलब्ध क्रेडिट की सीमा कम हो जाती है. अगर आप सही तरीकों से अपने एक से ज्यादा क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर रहे हैं. तो ये आपके क्रेडिट स्कोर पर किसी भी तरह से असर नहीं डालेगी. हालांकि ऐसा कर के आप बचत जरूर कर सकते.