Breaking News

महाराष्ट्र की सीमा से सटे कर्नाटक के बेलगावी में 2 गुटों में तनाव का माहौल, पुलिस ने किया लाठीचार्ज



महाराष्ट्र की सीमा से सटे कर्नाटक के बेलगावी जिले के एक गांव में 18वीं शताब्दी के योद्धा एवं स्वतंत्रता सेनानी सांगोली रायन्ना की प्रतिमा स्थापित करने को लेकर तनाव उत्पन्न हो गया। गांव का एक वर्ग प्रतिमा की स्थापना को लेकर विरोध जता रहा है। पुलिस ने स्थिति पर नियंत्रण के लिए लाठीचार्ज किया। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, रायन्ना के कुछ प्रशंसकों ने बृहस्पतिवार और शुक्रवार की दरम्यानी रात पीरनवाड़ी में एक चौराहे पर उनकी प्रतिमा स्थापित की। खबर फैलते ही अन्य वर्ग के लोगों ने आपत्ति जताई, जिससे इलाके में तनाव फैल गया।

विरोध करने वालों में ज्यादातार मराठी भाषी हैं जिन्हें उस स्थान पर प्रतिमा स्थापित किए जाने से आपत्ति है जहां वे मराठा शासक शिवाजी की मूर्ति स्थापित करना चाहते हैं। इस चौराहे का नाम शिवाजी महाराज के नाम पर ही है। उन्हें यह भी आशंका है कि भविष्य में इसका नाम भी बदला जा सकता है। स्थिति की गंभीरता को भांपते हुए पुलिस ने एकत्रित भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया।

अधिकारियों के अनुसार, उन्होंने प्रदर्शनकारियों को यह कहते हुए शांत करने की कोशिश की कि प्रतिमा को आवश्यक अनुमति के बिना स्थापित किया गया है और इस मुद्दे से कानूनी तौर पर निपटा जा सकता है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में एक प्राथमिकी दर्ज की गई है और कार्रवाई की जाएगी। स्थिति को अनियंत्रित होने से रोकने के लिए अतिरिक्त बलों को बुलाया गया है।

घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए, मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने बेंगलुरु में कहा कि उन्होंने बेलगावी के उपायुक्त और अन्य अधिकारियों से बात की है और उन्हें जरूरी निर्देश दिए हैं। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “मैंने अधिकारियों से कहा है कि कन्नड़ एवं मराठी भाषी लोगों में कोई अंतर किए बिना स्थिति से सौम्यता से निपटा जाना चाहिए और मुद्दा सुलझना चाहिए... अब स्थिति शांतिपूर्ण है...हर कोई सहयोग कर रहा है। मैं इसके लिए लोगों का शुक्रिया करता हूं...हर चीज सुलझा ली जाएगी।”