Breaking News

भारत में रोज नए रिकॉर्ड बना रहा कोरोना, पिछले 24 घंटे में सबसे अधिक 64,399 नये मामले


कोरोना वायरस के नए संक्रमित मरीजों के मामले में भारत ने एक बार फिर अपने पिछले रिकॉर्ड को तोड़ा है. एक दिन में सर्वाधिक 64,399 नये मामले सामने आये है. यह लगातार तीसरा दिन है जब 60 हजार से ज्यादा केस(Coronavirus Update) आए है. इसके साथ ही संक्रमित मरीजों का कुल आंकड़ा 21.53 लाख के पार हो गया है. हालाँकि अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित 14,80,884 मरीजों ने इस जानलेवा महामारी को मात भी दी है.

रविवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि सुबह आठ बजे तक के आंकड़े के अनुसार 861 और लोगों के मौत होने से अब तक इस जानलेवा महामारी के वजह से देश में मृतकों की संख्या 43379 हो गई है. वहीं, भारत में फ़िलहाल 8.95 प्रतिशत का पॉजिटिविटी रेट है. मतलब टेस्ट होने वाले सौ लोगो में से लगभग 9 लोगो का रिपोर्ट पॉजिटिव आ रहा है.
अगर टेस्टिंग की बात करे तो मंत्रालय ने जानकारी दी कि 8 अगस्त को देश में सबसे ज्यादा टेस्ट किये गए. शनिवार को 7,19,364 लोगों का सैंपल लिया गया. जबकि अब तक कुल 2,41,06,535 लोगों की कोरोना वायरस टेस्टिंग की जा चुकी है. लगभग अब देश भर में WHO द्वारा तय मानक के अनुसार टेस्टिंग हो रहे है.
इधर, भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों के 21 लाख होने में 192 दिन का समय लगा है. लेकिन हैरान करने वाली बात यह है कि बीतते समय के साथ संक्रमण का प्रसार काफी तेजी से हो रहा है. पहले एक लाख होने में 110 दिन का समय लगा था. जबकि इसके बाद महज 82 दिनों में ही 20 लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं.
इस सब के बीच चिंताजनक बात ये है कि देश में अब रोजाना 60 हजार से अधिक कोरोना वायरस संक्रमण के मामले सामने आ रहे है. लेकिन विशेषज्ञों की माने तो आंकड़ो में इस बड़े उछाल के पीछे की वजह अधिक मात्र में होने वाली टेस्टिंग है.
अगर कोरोना वायरस की स्थिति को राज्यवार देखे तो महाराष्ट्र अब भी कोरोना के मामलों में टॉप पर बना हुआ है. पिछले 24 घंटों में यहां 12,822 नए मामले सामने आए हैं. इसके अलावा अन्य हिंदी पट्टी के राज्यों में हालत ठीक नहीं है. बिहार, मध्यप्रदेश से लेकर राजस्थान कोरोना वायरस संक्रमण के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे है. इस सब के बीच राहत की बात ये है कि गुजरात, केरल, त्रिपुरा, हिमाचल प्रदेश, नगालैंड, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम में बीते 24 घंटे में जितने नए केस आए सामने आये है, उनसे ज्यादा मरीज ठीक हुए है.