Breaking News

दबे पांव वापसी कर रहा है TIK-TOK, एक लिंक से हो रहा फिर से डाउनलोड


30 जून को जिस चायनीज ऐप टिकटॉक पर केंद्र की मोदी सरकार ने बैन लगा दिया है, वह फिर से चोरी-छिपे चुनिंदा मोबाइल में दस्तक देने लगा है। इस बार गूगल प्ले स्टोर और ऐप स्टोर (App Store) की बजाय यह एक खास लिंक के जरिए सीधे ब्राउजर से ही डाउनलोड किया जा रहा है। यह लिंक केवल खास लोगों को ही भेजा जा रहा है।
मिली जानकारी के अनुसार, गुजरात (Gujarat) के सूरत में भी कई लोग यह ऐप डाउनलोड कर चुके हैं। इसपर एथिकल हैकर्स, साइबर पुलिस और साइबर एक्सपर्ट भी हैरान है। एक्सपर्ट का मानना है कि हो सकता है TikTok ने किसी थर्ड पार्टी की सहायता से कोई तिकड़म लगाई हो। सरकारी एजेंसियों को तत्काल इसपर कोई एक्शन लेना चाहिए। वह इसके पीछे चीनी हैकर्स (Chinese Hackers) की साजिश बता रहे हैं। 

भारतीय यूजर के फोन में ऐसे हो रही चीनी घुसपैठ-
  • ऐसे लोगों को भेजा जा रहा लिंक: जो लोग पहले से TikTok के यूजर रह चुके हैं उन्हें इस लिंक की मदद से दोबारा जोड़ा जा रहा है। इसे ई मेल, मैसेंजर और मैसेज से एपीके फाइल (APK File) में भेजा जा रहा है।


  • कैसे हो रहा है डाउनलोड :ई मेल पर आए लिंक (TikTok Links) को क्लिक करते ही ई मेल का एक्सेस मांगता है। ओके करने पर तुरंत एक्टिव हो जाता है। वहीं मैसेंजर वाले लिंक में फेसबुक (Facebook) का एक्सेस मांगता है। यदि आपके पास ये दोनों ऐप पहले से मौजुद नहीं है तो TikTok डाउनलोड नहीं होगा।