Breaking News

T20 वर्ल्ड कप में एबी डिविलियर्स का खेलना लगभग तय था - क्विंटन डिकॉक


दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान एबी डिविलियर्स की इंटरनैशनल क्रिकेट में वापसी को लेकर चर्चा काफी वक्त से चल रही है। दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने 2018 की शुरुआत में अचानक  क्रिकेट के तीनों फॉर्मैट से संन्यास ले लिया था। पिछले से दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फैफ डुप्लेसी ने बयान दिया था कि डिविलियर्स वापसी के लिए बात कर रहे हैं। उन्होंने कहा था कि एबीडी टी20 विश्व कप से पहले वापसी की संभावना तलाश रहे हैं। लोग चाहते हैं कि एबी खेले और मैं भी यही चाहता हूं। डुप्लेसी के अलावा कोच मार्क बाउचर ने भी कहा था कि वह डिविलियर्स से टी-20 वर्ल्ड कप में खेलने के लिए कहेंगे। अब टीम के लिमिटेड ओवर्स के कप्तान क्विंटन डिकॉक ने खुलासा किया है कि डिविलियर्स इस साल होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप में वापसी के लिए तैयार थे। 

डिकॉक ने स्टार स्पोर्ट्स के शो 'क्रिकेट कनेक्टेड' में कहा, ''एबी डिविलियर्स इस साल होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप के लिए बड़े दावेदारों की लिस्ट में शामिल थे। वह निश्चित रूप से लाइन में थे।अगर वह फिट होते तो मैं उन्हें टीम में फिर से देखना पसंद करता। मुझे लगता है कि कोई भी टीम डिविलियर्स को पाकर खुश होती। जब हम उनकी वापसी के लिए जोर दे रहे थे तो इस साल होने वाला टी-20 वर्ल्ड कप स्थगित हो गया है। अब हमें देखना होगा कि टी 20 विश्व कप कब होने वाला है।''
AB de Villiers was in line to play the T20 World Cup: Quinton de Kock

डिविलियर्स ने टी-20 वर्ल्ड कप में वापसी को लेकर कही थी यह बात
इससे पहले हाल ही में डिविलियर्स ने अपनी वापसी पर कहा था कि अगर टूर्नामेंट अगले साल तक स्थगित होता है तो कई चीजें बदल जाएंगी। अभी मैं खुद को उपलब्ध मानकर चल रहा हूं, लेकिन मैं यह नहीं जानता हूं कि तब मेरी फिटनेस कैसी रहेगी और क्या मैं तब स्वस्थ रहूंगा। उन्होंने कहा था, ''मैं अगर शत प्रतिशत फिट रहता हूं जैसा कि मैं चाहता हूं तो फिर मैं उपलब्ध रहूंगा। अगर ऐसा नहीं होता तो फिर मैं इस तरह का इंसान नहीं हूं जो 80 प्रतिशत फिट होने पर खुद को उपलब्ध रखे। तब मुझे ट्रायल्स से गुजरकर बाउचर को दिखाना होगा कि मैं अब भी अच्छा खिलाड़ी हूं।''
डिकॉक बोले- मुझे लगता है कि मैं वनडे और टी-20 के साथ खुश हूं
साथ ही डिकॉक ने यह भी स्पष्ट किया कि वह राष्ट्रीय टीम के लिए पूर्णकालिक कप्तानी में कोई दिलचस्पी नहीं रखते हैं। इस बारे में बात करते हुए कहा, ''ईमानदारी से कहूं तो मुझे लगता है कि काम का बोझ काफी ज्यादा है। मुझे विकेटकीपर बनना होगा, बल्लेबाजी क्रम में ऊपर जाना होगा। तीनों फॉर्मैट में कप्तानी करना। मुझे नहीं लगता कि मैं वह व्यक्ति हूं, जो तीनों टीमों की कप्तानी कर सके। मुझे लगता है कि मैं वनडे और टी-20 के साथ खुश हूं।''