Breaking News

बॉडीबिल्डिंग से जुड़ी कुछ बेहद रोचक बातें


बॉडीबिल्‍डर को देखकर आपके मन में भी उनकी जैसी काया पाने की तमन्‍ना जाग उठती होगी, लेकिन क्‍या आप बॉडीबिल्डिंग से जुड़ी कुछ रोचक बातों बताते है !

1.सिक्‍स एब्‍स पैक बनाना और बॉडीबिल्‍डर होना दोनों अगल-अगल बातें हैं। सिक्‍स एब्‍स पैक अब लोगों के बीच फैशन बनता जा रहा है वहीं बॉडीबिल्डिंग एक स्‍पोर्ट है। हालांकि धीरे-धीरे लोगों में इसके प्रति रूझान बढ़ रहा है और लोग ज्‍यादातर लोग बॉडीबिल्‍डर बन रहे हैं। बॉडीबिल्‍डर बनने की शुरूआत कहां से हुई और यह लोगों के बीच इतना अधिक लोकप्रिय कैसे हो गया है। इसकी जानकारी बहुत कम लोगों को होगी। इस स्‍लाइडशो में हम आपको बॉडीबिल्डिंग से संबंधित कुछ बातें बता रहे हैं। 

2.कब हुई शुरूआत
बॉडीबिल्डिंग की शुरूआत 18वीं शताब्‍दी में हुई। यह परंपरा ग्रीस और यूनान से हुइ्र। हालांकि उस समय बॉडीबिल्डिंग प्रतियोगिता जीतने के लिए नहीं बल्कि शौक के लिए होता था। लोग अपना लोहा मनवाने के लिए अपने शरीर को ऐसा शेप देते थे। उस समय वेट लिफ्ट के लिए लोग पत्‍थर, पशु और भारी वाहनों का प्रयोग करते थे। 

3.बॉडी बिल्डिंग के जनक
यूगेन सैंडो (Eugen Sandow) को वर्तमान की बॉडीबिल्डिंग परंपरा का जनक माना जाता है। यूगेन सैंडो अपनी खास तरह की बॉडी के लिए जाने जाते थे। उस समय उनकी उपस्थिति ही लोगों के बीच कौतुहल बन जाती थी। उनको देखकर लगता था कि वे बहुत ही शक्तिशाली होंगे। उनको देखकर ही बाद में लोग अपने बॉडीबिल्डिंग की तरफ झुके। फिर धीरे-धीरे लोगों में इसका प्रचलन बढ़ता गया। 

4.पहली बॉडीबिल्डिंग प्रतियोगिता
वर्तमान में दुनियाभर में कई तरह की प्रतियोगिता होने लगी हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं दुनिया में पहली बार बॉडीबिल्डिंग प्रतियोगिता कब हुई। 1901 में आधिकारिक तौर पर पहली बॉडिबिल्डिंग प्रतियोगिता हुई। विलियम मोरे नाम के शख्‍स ने यह प्रतियोगिता जीती और वे प्रतियोगिता जीतने वाले पहले बॉडीबिल्‍डर बने। 

5.स्‍वर्णिम युग
20वीं शताब्‍दी के शुरूआत में जब पहली प्रतियोगिता का आयोजन हुआ तो लोगों में इसके प्रति जिज्ञासा बढ़ी और अधिक से अधिक लोग इसमें हिस्‍सा लेने के लिए खुद को तैयार करने लगे। 1946 के बाद इसका स्‍वर्णिम युग शुरू हुआ जब जो वीडर (Joe Weider) ने इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ बॉ‍डी बिल्‍डर्स (IFBB) की शुरूआत की। इसके अलावा जो वीडर ने भी उसी वक्‍त मिस्‍टर ओलंपिया बॉडीबिल्डिंग प्रतियोगिता की शुरूआत 1965 में शुरू की। इसके बाद यह दुनिया की सबसे प्रचलित प्रतियोगिता हो गई। जीतने वाले को यूगेन सैंडो की मूर्ति का पीतल का तमगा मिलने लगा। लैरी स्‍कॉट नाम के शख्‍स पहले विजेता थे। 

6.अर्नाल्‍ड स्‍वार्जनेगर
अर्नाल्‍ड का नाम आज कौन नहीं जानता है। उनकी कई फिल्‍मों ने पूरी दुनिया में धूम मचा दी थी। अर्नाल्‍ड पहले ऐसे शख्‍स हैं जिन्‍होंने मि. ओलंपिया की प्रतियोगिता लगातार 7 बार जीती। उनके ऊपर 'पंपिग ऑयरन' नाम की डाकुमेंट्री बनी, इसके बाद उन्‍होंने कई फिल्‍में की।

7.मि. ओलंपिया प्रतियोगिगता शुरू होने के बाद बॉडीबिल्डिंग के क्षेत्र में ज्‍यादा से ज्‍यादा लोग आने लगे। 70 और 80 के दशक के बाद प्रतियोगिता और कठिन होने लगी। इसी दौरान डोरियन येट्स, मार्कस रॉल और सर्जिओ ओलिविया जैसे बॉडीबिल्‍डर आकर्षण का केंद्र रहे। इसके बाद ही बॉडीबिल्डिंग में शरीर को अलग तरह का शेप देने के लिए स्‍ट्रेरॉयड का प्रयोग होने लगा।