Breaking News

गोपालगंज पुल ढहने से भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह की भी ख़ोज हो गई


बिहार के गोपालगंज में पुल ढहने पर आरजेडी के नेता तेजस्वी यादव ने राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है. तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को भ्रष्टाचार का भीष्म पितामह करार दिया है. तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार सिर्फ दिखावे के लिए काम कर रहे हैं.
बता दें कि गोपालगंज में पुल का एक हिस्सा ढहने से नीतीश सरकार के सुशासन के दावों की पोल खुल गई. एक महीने पहले ही सत्तरघाट महासेतु का उद्धाटन हुआ था और 264 करोड़ की लागत पानी में बह गई.तेजस्वी यादव ने कहा कि सिर्फ पुल ही नहीं टूटा है, बल्कि जो बांध बना था वो भी साथ में टूटा है. बिहार में सबकुछ भगवान भरोसे है. आरजेडी नेता ने कहा कि इससे पहले भी भागलपुर में एक पुल टूटा था. नीतीश कुमार सिर्फ दिखावे के लिए काम कर रहे हैं. नीतीश कुमार भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह हो गए हैं.

तेजस्वी यादव ने साथ ही इस घटना की जांच की मांग की है. उन्होंने कहा कि जो जिम्मेदार मंत्री हैं उनको तुरंत बर्खास्त किया जाए. पुल का निर्माण करने वाली कंपनी को भी ब्लैकलिस्ट किया जाए.बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि पुल के निर्माण में जो 264 रुपये खर्च हुए हैं उसकी रिकवरी होनी चाहिए. सभी को पता है कि बिहार बाढ़ से प्रभावित है. कई गांव डूब चुके हैं. ऐसे में हम लोगों को नजारा देखने को मिल रहा है कि पुल और बांध दोनों टूट रहे हैं.
तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश कुमार को चिंता चुनाव की है. बिहार की और बिहार के लोगों की उनको चिंता नहीं है. नीतीश सरकार के 15 साल में 55 घोटाले हुए हैं.
पुल ढहने पर तेजस्वी ने किया था ट्वीट
आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने इससे पहले ट्वीट भी किया है. उन्होंने कहा कि 8 वर्ष में 263.47 करोड़ की लागत से निर्मित गोपालगंज के सत्तर घाट पुल का 16 जून को नीतीश कुमार ने उद्घाटन किया था. 29 दिन बाद यह पुल ध्वस्त हो गया.तेजस्वी ने कहा कि खबरदार! अगर किसी ने इसे नीतीश का भ्रष्टाचार कहा तो? 263 करोड़ तो सुशासनी मुंह दिखाई है. इतने की तो इनके चूहे शराब पी जाते हैं.