Breaking News

इस सब्जी के फायदे जानकर हैरान रह जाएँगे आप, कैल्शियम और फॉस्फोरस का सबसे अच्छा

इसके छिलकों में मैग्नीशियम, पोटैशियम, फॉस्फोरस भी भरपूर मात्रा में होता है. परवल में उपस्थित एंटी-ऑक्सीडेंट बढ़ती आयु के लक्षणों को कम करने में मददगार होते हैं. यह कैल्शियम का भी अच्छा स्रोत है.
इसी तरह दिल की धडक़नें असामान्य हो रही हों या घबराहट के साथ बेचैनी व कंपन महसूस कर रहे हैं तो राई को पीसकर अपने हाथों व पैरों पर मलें.
ये चेहरे की झांइयों व बारीक रेखाओं को दूर करने में भी मददगार है. स्कीन से जुड़ी समस्याओं में भी लाभकारी है. इसके बीज कब्ज व पाचन से जुड़ी समस्याओं में आराम देते हैं. डायबिटीज के मरीजों को इसे खाने की सलाह चिकित्सक भी देते हैं. यह संक्रमण से भी बचाती है.
राई के पेस्ट से मालिश करें, जोड़ दर्द में देती राहत, सरसों की प्रजाति वाली काली राई का प्रयोग घरों में अचार व सब्जियों में अधिक होता है. इसमें कई औषधीय गुण भी हैं. जोड़ों के पुराने दर्द में राई की पेस्ट में कर्पूर मिलाकर मालिश करने पर आराम मिलता है.