Breaking News

चीन के इशारे पर बांग्लादेश से नजदीकी बड़ा रहा पाकिस्तान, भारत को घेरने की साजिश


जुल्म-ओ-सितम की वजह से 1971 में देश का बड़ा हिस्सा खो चुका पाकिस्तान इन दिनों अपने आका चीन के कहने पर बांग्लादेश से दोस्ती बढ़ाने की कोशिश कर रहा है। पाकिस्तान भले ही पांच दशक पुरानी घटना भूल गया हो, लेकिन बांग्लादेश का जख्म आज भी हरा है। बांग्लादेश के विदेश मंत्री ने कहा है कि पाकिस्तान का नरसंहार और महिलाओं से बलात्कार बांग्लादेश भूला नहीं है। पाकिस्तान ने अभी तक इसके लिए माफी भी नहीं मांगी है।

भारत के खिलाफ एजेंडे को बढ़ाने के लिए चीन की चाल के तहत पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने 22 जुलाई को बांग्लादेशी समकक्ष शेख हसीना से फोन पर बात की। बताया गया कि दोनों प्रधानमंत्रियों के बीच बाढ़ और कोविड-19 महामारी के अलावा द्विपक्षीय सहयोग और बेहतर संबंधों को लेकर भी बात हुई। पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दे को भी उठाया। 
Pakistani premier telephones Bangladeshi counterpart | Arab News

राजनीतिक पंडित यह उत्सुकता से बांग्लादेश की ओर नजर टिकाए हैं कि उसका अगला कदम क्या होगा। हालांकि, कई जानकारों का मानना है कि बेहद खराब इतिहास की वजह से इस्लामाबाद और ढाका के बीच बेहतर संबंध संभव नहीं है। बांग्ला न्यूज 24 ने एक रिपोर्ट में कहा है कि यदि पाकिस्तान के कॉल का सकारात्मक रूप से जवाब देता है तो इससे भारत-चीन तनाव पर उसका स्टैंड साफ हो जाएगा।