Breaking News

'पुरुषों से ज्यादा बुद्धिमान होती हैं महिलाएं' ये हमारा नहीं चाणक्य का कहना है


महिलाओं में कई खूबियां जन्मजात होती हैं, उनमें से एक प्रबंधन का गुण है. कहा जाता है कि महिलाओं में प्रबंधन का गुण जन्मजात होता है. वहीं, आयार्य चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र में महिलाओं की कई खूबियों को बयां किया है. आचार्य चाणक्य ने कई मामलों में महिलाओं की शक्ति को पुरुषों से ज्यादा बताया है.
स्त्रीणां दि्वगुण आहारो बुदि्धस्तासां चतुर्गुणा।
साहसं षड्गुणं चैव कामोष्टगुण उच्यते।।
इस श्लोक में चाणक्य ने महिलाओं के साहस और उनके गुणों के बारे में बताया गया है. आचार्य चाणक्य ने बताया है कि स्त्रियों को पुरुषों की तुलना में ज्यादा भूख लगती है. यानी स्त्रियां पुरुषों से ज्यादा भोजन करती हैं, क्योंकि सेहत की बात करें तो महिलाओं को पुरुषों की तुलना में कैलोरी की ज्यादा जरूरत पड़ती है, इसलिए उन्हें भरपूर डायट लेने की आवश्यकता पड़ती है.
आचार्य चाणक्य कहते हैं कि पुरुषों की तुलना में महिलाएं बुद्धिमान होती हैं. आयार्च चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र में महिलाओं को पुरुषों से ज्यादा समझदार और बुद्धिमान बताया है, क्योंकि महिलाएं सभी कामों को समझदारी से कर लेती हैं. महिलाएं जीवन में आने वाली हर मुश्किल को चालाकी और बुद्धिमानी से समाधान निकालने में सक्षम होती हैं.
वहीं, समाज में पुरुषों को ज्यादा साहसी माना जाता है. हालांकि, आचार्य चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र में वर्णन किया है कि पुरुषों की तुलना में महिला कई गुना ज्यादा साहसी होती हैं. चाणक्य के मुताबिक, महिलाएं हर मुश्किल घड़ी का डटकर सामना करती है. इस कारण पुरुषों से 6 गुना साहसी महिलाएं होती हैं.
आचार्य चाणक्य ने अपने श्लोक के आखिर में ये भी कहा है कि पुरुषों से कई गुना ज्यादा कामुक महिलाएं होती हैं. चाणक्य कहते हैं कि पुरुषों की तुलना में 8 गुना ज्यादा महिलाओं में काम भावना देखने को मिलती हैं.