Breaking News

कोरोना वैक्सीन के सकरात्मक नतीजे आते ही आगे की योजना बनाने में जुटे संबंधित विभाग


दुनिया में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए तैयार किए जा रहे वैक्सीन को लेकर सकारात्मक नतीजे सामने आने के साथ ही भारत में इससे आगे की योजना पर संबंधित विभाग के अधिकारी चर्चा शुरू कर दिए हैं। वैक्सीन तैयार हो जाने पर इसके स्टोर करने से लेकर इस्तेमाल तक की योजना बनाई जा रही है।
इस मामले की जानकारी रखने वाले ने बताया है कि इसके लिए कई मंत्रालयों के अधिकरियों के साथ-साथ संबंधित विभाग ने व्यापक चर्चा की है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि कोरोना प्रबंधन टीम को उम्मीद है कि अगले साल तक इसके वैक्सीन का निर्माण संभव हो सकेगा।

एक सरकारी अधिकारी जो इन चर्चाओं में शामिल हैं ने नाम नहीं छपने की शर्त पर कहा कि पहले टीके के लिए जमीन तैयार करने पर कम से कम दो बैठकें हुई हैं। अगले कुछ हफ्तों में और बातचीत होगी।
अधिकारियों को ध्यान से कम से कम नौ टीकों पर है, जिनमें दो चीन के द्वारा तैयार किया जा रहा है। इनमें से सबसे अधिक संभावना ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका के वैक्सीन को लेकर है। पुणे स्थित अडार पूनावाला के नेतृत्व वाले सीरम संस्थान ने भारत में वैक्सीन के निर्माण के लिए एस्ट्राजेनेका के साथ भागीदारी की है। इस टीके का मानव परीक्षण अगले महीने भारत में शुरू होने जा रहा है।
Researchers harness new technology for rapid COVID-19 vaccine ...

अधिकारी ने कहा, “आंतरिक विचार-विमर्श शुरू हो गया है ताकि हम पूरी तरह से तैयार हों और किसी भी अंतिम क्षण की गड़बड़ी से बच सकें। मुख्य मुद्दों में से एक है उत्तर पूर्वी भारत के दूरदराज क्षेत्रों में वितरण और बड़े पैमाने पर कोल्ड स्टोरेज सुविधाएं स्थापित करना।”