Breaking News

आशिक ने ले ली पति की जान तो डर के मारे लड़की ने भी कर ली आत्महत्या


गदवाल : फेसबुक पर चैटिंग एक की हत्या का तो दूसरे की आत्महत्या का कारण बना। डिग्री की पढ़ाई के दौरान लड़की से एक लड़का एक तरफा प्यार करता था। इस बीच उस लड़की की अन्य एक लड़के साथ शादी हुई। कुछ साल बीतने के बाद फेसबुक के माध्यम में लड़के और विवाहिता का परिचय हुआ। उसने विवाहिता को यकीन दिलाया कि वह उसके साथ दोस्त की तरह रहेगा। इस दौरान उसने उसका व्यक्तिगत जानकारी हासिल की और वह विवाहिता को प्रताड़ित करने लगा। इस बीच लड़के की हत्या हुई। विवाहिता ने यह सोच कर आत्महत्या कर ली कि कहीं लड़के की हत्या का आरोप उस पर न लगे। यह घटना गदवाल और महबूबनगर में घटी।
गदवाल जिला क्षेत्र के वेंकटरमणा कॉलोनी की सुधा और उसी क्षेत्र का कार्तिक डिग्री की पढ़ाई कर रहे थे। उस समय कार्तिक सुधा से एक तरफा प्यार करता था। इस बीच वर्ष 2011 में सुधा की शादी महबूबनगर के उदयकुमार के साथ हुई। इस दंपती को एक बेटा है।
बीते साल कार्तिक ने फेसबुक में सुधा को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी और परिचय बढ़ाया। कुछ दिनों तक दोनों फेसबुक फ्रेंड की तरह रहे, लेकिन बाद में सुधा ने उससे किनारा किया। इस पर कार्तिक ने उसे ब्लैकमेल करना शुरू किया। उसने सुधा को धमकाया कि यदि वह उसके साथ बात नहीं करती है तो वह उसके पति को बता देगा कि दोनों के बीच विवाहेतर संबंध है। साथ ही उसने धमकी दी कि वह उसके पति और माता-पिता की हत्या कर देगा।
इस दौरान गदवाल में कार ड्राइवर का काम कर रहा कार्तिक इस महीने की 24 तारीख को महबूबनगर जाने की बात बताते हुये घर निकला और वापस घर नहीं लौटा। उनका बेटा नहीं दिखाई दे रहा कह कर कार्तिक के पिता नागेंदर ने 26 फरवरी को पुलिस थाने में शिकायत की।
इस क्रम में अज्ञात युवक की हत्या गदवाल मंडल में मेल्लाचेरुवु (९९ पैकेज) पहाड़ी के निकट शव होने की जानकारी शुक्रवार की सुबह सामने आई। हत्या का शिकार हुआ युवक की पहचान कार्तिक के रूप में की गई। पुलिस ने शव के पास किसी को जाने की अनुमति नहीं दी। पुलिस ने शनिवार को जानकारी देने की बात कही।
इस क्रम में उसे प्रताड़ित करनेवाले कार्तिक की मौत होने की खबर मिलने पर सुधा परेशान हुई। उस अपराध का आरोप कहीं उसपर न लगे, यह सोचकर उसने शुक्रवार को पंखे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इससे पहले उसने 11:45 बजे उसके पिता नागेंदर को फोन कर बताया कि वह मानसिक दबाव में है, वह आत्महत्या करने जा रही है और उसके बेटे का खयाल रखना, कहकर उसने फोन स्वीच ऑफ कर दिया।
परेशान हुये नागेंदर ने इस बात की जानकारी रिश्तेदरों को दी और घर पर आकर देखा तो वह बेजान पड़ी थी। बहरहाल, कार्तिक की हत्या का आरोप कहीं उस पर न लगे, इस डर से वह आत्महत्या की बात करनेवाली सुधा ने सुसाइड लेटर में कार्तिक ने उसका जीना मुश्किल कर दिया और उसे छोड़ना नहीं, लिखा। हत्या और आत्महत्या की घटनाओं को लेकर संदेह व्यक्त किया जा रहा है।
पुलिस कोन से जांच कर रही है कि कार्तिक की हत्या किसने की और इस हत्या के मामले में अन्य कौन-कौन शामिल है।
आपको बता दें कि कार्तिक का दोस्त भी फेसबुक के माध्यम से सुधा को परिचित हुआ। कार्तिक की प्रताड़ना को लेकर एक बार उसने कार्तिक के दोस्त को बताया था। इस पर दोस्त ने कार्तिक को अपने रवैये में बदलाव करने की चेतावनी दी थी, इस तरह की जानकारी सामने आई। कार्तिक के दोस्त पर संदेह व्यक्त किया जा रहा है। इस बीच खबर मिली है कि आरोपी ने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण किया है।