Breaking News

कोरोना हारेगा भारत जीतेगा, इस महीने तक भारतियों को मिल सकती है कोरोना वैक्सीन


वैश्विक दवा प्रमुख फाइजर का मानना है कि कोविड -19 को रोकने के लिए एक वैक्सीन अक्टूबर के अंत तक तैयार हो सकती है। कंपनी के सीईओ अल्बर्ट बोरला ने ये जानकारी दी है। फाइजर जर्मन एमआरएनए कंपनी बायोएनटेक के सहयोग से कोविड -19 को रोकने के लिए बीएनटी 162 वैक्सीन कार्यक्रम के लिए अमेरिका और यूरोप में क्लीनिकल परीक्षण कर रही है।

बोरला ने इस सप्ताह इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ फामार्स्यूटिकल मैन्युफैक्चरर्स एंड एसोसिएशन (आईएफपीएमए) द्वारा आयोजित एक वचुर्अल कार्यक्रम में भाग लेते हुए यह टिप्पणी की। फियर्सबायोटेक द्वारा आयोजित इस समारोह में बोरला ने कहा, “अगर चीजें अच्छी तरह से चलती हैं, तो हमारे पास एफडीए (यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन) और ईएमए (यूरोपीय मेडिसिन एजेंसी) के लिए सुरक्षा और प्रभावकारिता के पर्याप्त सबूत होंगे और अक्टूबर के अंत के आसपास हमारे पास एक वैक्सीन होगा।” 
इस कार्यक्रम में वक्ताओं में एस्ट्राजेनेका के सीईओ पास्कल सोरियट, ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन की प्रमुख एमा वाल्स्ले, जॉनसन एंड जॉनसन के मुख्य वैज्ञानिक अधिकारी पॉल स्टॉफल्स भी शामिल थे। इनमें से प्रत्येक कंपनी अपने साझेदारों के साथ मिलकर बीमारी से बचाव के लिए वैक्सीन विकसित कर रही है।
जबकि जीएसके सैनोफी के साथ सेना में शामिल हो गया है, वहीं एस्ट्राजेनेका ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में विकसित किए जा रहे टीके का समर्थन कर रहा है। जे एंड जे अपने वैक्सीन को विकसित करने के लिए अमेरिका के बायोमेडिकल एडवांस्ड रिसर्च एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी के साथ सहयोग कर रहा है।