Breaking News

राजस्थान में बीजेपी के बड़ा नेता ने अपनी पार्टी पर उठाया सवाल, कहा चुनी हुई सरकार गिराने गलत


बीतें कुछ दिनों से राजस्थान के सियासत में हर दिन कोई न कोई नया मोड़ आ ही जाता है. अब तक कांग्रेस पार्टी के अन्दर दो फार की स्थिति में देखी जा रही थी. लेकिन राज्य में अब बीजेपी की खेमाबन्दी भी सतह पर आ गई है. पूर्व सीएम राजे के करीबी और वरिष्ठ भाजपा विधायक कैलाश मेघवाल ने अपनी ही पार्टी को आड़े हाथो लेते हुए कहा है कि चुनी हुई सरकार को खरीद खरीद फरोख्त कर गिराने की साजिश बिल्कुल गलत है.
वरिष्ठ भाजपा नेता कैलाश मेघवाल ने कहा कि बीजेपी चाल चरित्र और नैतिकता वाली पार्टी है ऐसे में हॉर्स ट्रेडिंग के जरिए सरकार गिराने की साजिश हो रही है जिसे मैं सही नहीं मानता हूं. 
राजस्थान विधानसभा के स्पीकर रह चुके कैलाश मेघवाल ने सूबे के मौजूदा सियासी उठापटक को लेकर एक ख़त भी लिखा है. ख़त के जरिये उन्होंने कहा है कि जिस प्रकार का माहौल सरकार गिराने को लेकर पिछले दो महीने से बना हुआ है, हॉर्स ट्रेडिंग हो रही है, आरोप-प्रत्यारोप लग रहे हैं, वह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है.
उन्होंने चिट्ठी के जरिये कहा, राजस्थान में आजादी के बाद सरकारें कई बार बदलीं और विधानसभा के अंदर भी पक्ष-विपक्ष के बीज जमकर बहस भी हुई. स्वर्गीय मोहनलाल सुखाडिया, स्व. श्री भैरो सिंह शेखावत से लेकर अशोक गहलोत हों या वसुंधरा राजे, इन सभी के समय बहस हुई है. परंतु सत्ताधारी पार्टियों ने विपक्षी पार्टियों से मिलकर सरकार गिराने के षडयंत्र जो आज हो रहे हैं, ऐसा कभी नहीं हुआ.
बीजेपी विधायक कैलाश मेघवाल ने कांग्रेस के बागी विधायक भंवरलाल शर्मा को भी निशाने पर लिया है. उन्होंने कहा, भंवरलाल शर्मा जो अभी कांग्रेस के विधायक हैं, ये पहले भैरोसिंह शेखावत जी के साथ मंत्री भी रहे हैं. इन्होंने पार्टी में रहकर और बाहर से विधायकों की खरीद फरोख्त कर कई बार खुद की बीजेपी सरकार को गिराने की कोशिश की थी. ये सबको पता है. वरिष्ठ भाजपा विधायक कैलाश मेघवाल ने ख़त लिखने के अलावा निजी चैनलों से बातचीत में भी अपनी बातों को दुहराया है.

उधर, राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कैलाश मेघवाल के बयान का हवाला देते हुए एक बार फिर बीजेपी पर हमला बोला है. सीएम गहलोत ने कहा, 'भाजपा के स्वयं के नेता श्री कैलाश मेघवाल जो पूर्व मंत्री एवं राजस्थान विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष हैं उन्होंने प्रदेश में सरकार गिराने को लेकर पिछले दो महीने से जो माहौल बना हुआ है, हॉर्स ट्रेडिंग हो रही है, आरोप-प्रत्यारोप लग रहे हैं, उन्हें बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण बताया है.'