Breaking News

राफेल विमानों के आने से ठीक पहले अंबाला एयरबेस ने लिया बड़ा फैसला, हो सकती कार्रवाई

फ्रांस से आ रहे पांच राफेल विमानों का पहला जत्था 29 जुलाई को भारत पहुंचेगा. ये पांचों राफेल विमान 7 हजार किलोमीटर की दूरी तय कर भारत पहुंचेंगे. इन राफेल विमानों को अंबाला में भारतीय वायु सेना के बेड़े में शामिल किया जाना है. अंबाला एयर बेस भी अब राफेल के स्वागत के लिए पूरी तरह तैयार है.
राफेल विमानों के भारत आगमन के मद्देनजर अंबाला एयर बेस के लिए सुरक्षा के बंदोबस्त भी कड़े कर दिए हैं. अब अंबाला एयरबेस के 3 किलोमीटर के दायरे को नो ड्रोन जोन घोषित कर दिया गया है. एयरबेस के तीन किलोमीटर के दायरे में ड्रोन पर पूरी तरह पाबंदी रहेगी. अगर कोई इसका उल्लंघन करता है तो उस पर एक्शन लिया जाएगा.
Indian Army Largest Base Camp At Ambala Cantt. - अब तबाह ...
असल में, एक तरफ जहां राफेल को लेकर एयरबेस पहले से ही तैयार है वहीं अब एयर फोर्स और अंबाला प्रशासन ने एयरबेस के 3 किलोमीटर के दायरे को नो ड्रोन जोन घोषित कर दिया है. अंबाला में एयरबेस को लेकर बंदोबस्त की जानकारी देते हुए अंबाला छावनी के DSP राम कुमार ने इस बात की जानकारी दी. उन्होंने यह भी बताया कि ये अंबाला के लिए गर्व की बात है और अगर कोई नियमों की उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई भी की जाएगी.