Breaking News

अस्पताल में भर्ती थे अमिताभ बच्चन और डॉक्टरों ने जया बच्चन से कहा अपने पति से अंतिम बार मिल लो


अमिताभ बच्चन के लाइफ में भी कई सारी समस्याएं आई और गई लेकिन एक वक्त ऐसा भी आया जब हर किसी को लगने लगा था कि अब हम उन्हें नहीं देख पाएंगे। बात करीब 37 साल पुरानी है जब अमिताभ बच्चन, जो मौत के मुंह से निकलकर किसी तरह अपने घर पहुंचे थें। दिन था 26 जुलाई 1982 जब वो फिल्म 'कुली' की शूटिंग कर रहे थें उस दौरान उनका एक्सीडेंट हो गया था।

जी हां भले ही उस घटना के बाद पुनीत इस्सर नेशनल विलन बन गए हो लेकिन उस दिन जो अमिताभ को चोट लगी वो उनकी वजह से नहीं थी। ये शूटिंग बंगलुरु से कुछ 16 किलोमीटर दूर चल रही थी इस सीन में पुनीत इस्सर के साथ एक फाइट सीन को फिल्माया जा रहा था, इसमें अमिताभ बच्चन को उछलना था लेकिन इसी बीच उनकी वो जंप मिसटाइम हो गई।

बस एकाद सेकेंड की गलती हुई और ऐसे में भारी दुर्घटना हो गई। एक तो ये कि पुनीत इस्सर का जो मुक्का उनके पेट को सिर्फ छूने वाला था, वो ज़ोर से लग गया और दूसरी उनके पास में पड़े टेबल के कोने से उनके पेट वाले हिस्से में गहरी चोट आ गई। इस घटना के बाद अमिताभ बच्चन को तकलीफ महसूस हुई और वो शूटिंग रोककर होटल चले गए लेकिन वक्त बीतता गया और कुछ ही घंटों में दर्द इतना बढ़ गया कि उन्हें एडमिट करना पड़ा।

इस बारे में अमिताभ बच्चन बताते है कि उन दिनों 8 दिन में उनकी दो सर्जरी हुई थी पर इसके बावजूद उनकी हालत सुधरने का नाम नहीं ले रही थीं। इतना ही नहीं उनकी दूसरी सर्जरी के बाद वो लंबे समय तक होश में नहीं आए थें! ऐसे में जया को आईसीयू में ये कहकर भेजा गया कि इससे पहले कि उनकी मौत हो जाए अपने पति से आखिरी बार मिल लो लेकिन डॉक्टर उदवाडिया ने एक आखिरी कोशिश की।