Breaking News

डिप्रेशन क्यों और कैसे होता है, जानें इसके कारण और लक्षण

डिप्रेशन क्यों और कैसे होता है
डिप्रेशन क्यों और कैसे होता है
हम में से ज्यादातर लोग किसी एक ऐसी बात को लेकर उलझ जाते हैं, जिससे बाहर निकलना मुश्किल सा लगता है. डिप्रेशन हमें अंदर से खोखला कर सकता है. डिप्रेशन ज्यादातर ऐसे लोगों को होते है जिनकी जिंदगी में कोई बहुत बड़ा हादसा हुआ हो या जिसके पास दुखी होने की बड़ी वजहें हों. ये वजहें घरेलू हो सकती हैं खुद कि निजी हो सकती हैं. वहीं माना जाता है कि कुछ हद तक हमारे शरीर में हार्मोन में बदलाव होने से भी व्यक्ति डिप्रेशन का शिकार हो जाता है. यही वजह है कि डिप्रेशन में आप चाहकर भी खुश नहीं रह पाते.'

डिप्रेशन या दिमागी तकलीफ को लेकर एक गलत धारणा है कि ये सिर्फ उसे ही होती हैं, जिसकी जिंदगी में कोई बहुत बड़ा हादसा हुआ हो या जिसके पास दुखी होने की बड़ी वजहें हों. लोग अक्सर पूछते हैं, ''तुम्हें डिप्रेशन क्यों है? क्या कमी है तुम्हारी लाइफ में?'' यह पूरी तरह से गलत है. डिप्रेशन के दौरान इंसान के शरीर में खुशी देने वाले हॉर्मोन्स जैसे कि ऑक्सिटोसीन का बनना कम हो जाता है.


यही वजह है कि डिप्रेशन में आप चाहकर भी खुश नहीं रह पाते. आपने किसी ऐसे इंसान को देखा होगा, जो अपने आप से बातें करता रहता है या फिर कोई ऐसा जो हमेशा मरने की बातें करता है. हर छोटी-छोटी बात पर रो देता है. आप उन खुशमिजाज़ और मस्तमौला लोगों से भी मिले होंगे, जिनकी खुदकुशी की ख़बर पर आपको यकीन नहीं होता. ऐसे लोग डिप्रेशन या मानसिक परेशानी के शिकार होते है. 

डिप्रेशन के कारण

माता-पिता की उम्मीदों पर खरा उतरने का दबाव
- शिक्षा और रोजगार का दबाव 
- पारिवारिक समस्याएं
- रिलेशनशिप की समस्याएं
- हॉर्मोन्स में बदलाव और किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित होना.
- किसी काम में अगर उम्मीद के मुताबिक सफलता न मिले या वह काम बिगड़ जाए.
- कर्ज में डूबने की स्थिति में भी व्यक्ति डिप्रेशन में चला जाता है.

डिप्रेशन के कारण

-अगर आपको याद नहीं कि आप आखिरी बार खुश कब थे.
-बिस्तर से उठने या नहाने जैसी डेली रुटीन की चीजें भी आपको टास्क लगती हैं.
-आप लोगों से कटने लगे हैं.
-आप खुद से नफरत करते हैं और अपने आप को खत्म कर लेना चाहते हैं.
-अगर आप इन बातों के अलावा गूगल पर खुदकुशी के तरीके सर्च करते हैं तो आपको तुरंत मदद लेनी चाहिए.''