Breaking News

मध्यप्रदेश में BJP को बड़ा झटका, उपचुनाव से पहले इस नेता ने दिया पार्टी से इस्तीफा


मध्यप्रदेश में उपचुनाव को लेकर सियासी सरगर्मियां तेज है. कांग्रेस को सत्ता से बेदखल कर सत्ता पर काबिज हुई भाजपा पर पूर्व विधायक ने उपेक्षा का आरोप लगाते हुए इस्तीफा दे दिया है. सेंवढ़ा विधानसभा सीट से दो बार विधायक रह चुके रामदयाल प्रभाकर ने पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है.
पूर्व विधायक ने संगठन पर अनदेखी, उपेक्षा के साथ ही तानाशाही के आरोप लगाते हुए मप्र भाजपा के अध्यक्ष वीडी शर्मा को अपना इस्तीफा भेज दिया है. 
इस्तीफा देने वाले रामदयाल प्रभाकर सेंवढ़ा सीट से 1993 और 2003 में दो बार विधायक रहने के साथ ही संगठन में जिला महामंत्री और अनुसूचित जाति मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य के पद पर भी रह चुके है.
प्रदेश अध्यक्ष को दिए इस्तीफे में पूर्व विधायक प्रभाकर ने लिखा है कि पार्टी में पुराने कार्यकर्ताओं की उपेक्षा और अपमान किया जा रहा है. पार्टी में तानाशाही हो गई है. जनहित की बात का विरोध किया जाता है.
उन्होंने आगे लिखा है कि वह पार्टी के प्रदेश स्तर के संगठन से दुखी हैं, क्योंकि संगठन के बड़े पद पर बैठे लोग खुद निर्णय न लेकर अन्य बड़े नेताओं के इशारे पर काम करते हैं. जब इसकी शिकायत की जाए तो आम कार्यकर्ता की अनदेखी होती है. केंद्रीय नेतृत्व भी इस तरफ ध्यान नहीं दे रहा है. जिस वजह से वह इस्तीफा दे रहे हैं.
बता दें कि मध्यप्रदेश की 24 विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव होने हैं. लेकिन सूबे की शिवराज सरकार के कैबिनेट विस्तार के बाद से ही कांग्रेस से बगावत कर बीजेपी में आये ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक और भाजपा के असंतुष्ट नेताओ के बिच खेमेबाजी खुलकर सामने आ गई है. जो आगामी समय में होने वाले उपचुनाव को प्रभावित कर सकती है.