Breaking News

चीन पर मोदी सरकार की एक और डिजिटल स्ट्राइक, इस बार 47 ऐप्स बैन


गलवान वैली में चीन की नापाक हरकत पर बड़ी कार्रवाई करते हुए भारत ने कुछ दिनों पहले चीन के 59 ऐप्स को भारत में बैन (59 apps banned in india) कर दिया था। जिसके चलते चीन को काफी नुकसान उठाना पड़ा था। चीन से जुड़ी कंपनियों पर भारत सरकार ने फिर एक बार बड़ी कार्रवाई की है। भारत सरकार ने अब चीन के 47 ऐप्स बैन (47 chinese apps banned in india) कर दिए हैं। उसमें टिकटॉक लाइट (Tiktok Lite) और कैम स्कैनर एडवांस वाले ऐप्स भी शामिल हैं। इससे पहले भारत सरकार देश में चीन की कंपनियों के निवेश की जांच करने की भी घोषणा कर चुकी है।
सरकार के मुताबिक ये चीनी ऐप्स कुछ समय पहले बैन किए गए ऐप्स के क्लोन के तौर पर काम कर रहे थे। सरकार ने इससे पहले 59 एप बैन (59 apps banned) किए थे। इनमें टिक टॉक, वी चैट से लेकर अली बाबा का यूसी न्यूज और यूसी ब्राउजर शामिल थे।
सरकार के सूत्रों के मुताबिक 275 ऐसे चीनी ऐप्स हैं जिन्हें राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरनाक माना गया है। अब बैन किए गए ऐप्स में ज्यादातर क्लोनिंग ऐप शामिल हैं। यानी पहले से बैन ऐप के जैसे ऐप बनाकर उतार दिए गए थे। भारत ने चीनी ऐप्स ये खिलाफ कार्रवाई गलवान घाटी में झड़प के बाद शुरू की थी। जो अब तक चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध करते हुए चल रही है। भारत में चीनी ऐप्स बैन के कारण चीनी कंपनियों को पहले ही भारी नुकसान खेलना पड़ा था।
ख़बरों के मुताबिक चीन की कंपनी यूसी वेब पर भारत के खिलाफ खबरें चलाने का आरोप लगा है। चीन के अलीबाबा ग्रुप की कंपनी यूसी वेब के खिलाफ पूर्व असोसिएट डायरेक्टर ने गुड़गांव कोर्ट में याचिका दायर की है। आरोप है कि वेबसाइट पर चलाई गई फेक न्यूज का विरोध किया तो कंपनी ने उन्हें नौकरी से निकाल दिया। याचिका पर संज्ञान लेते हुए सिविल जज जूनियर डिविजन सोनिया श्योकंद की कोर्ट ने अलीबाबा और फाउंडर जैक मा को नोटिस जारी किया है।त 275 चीनी ऐप हो सकते हैं बैन, सरकार ने तैयार की लिस्ट
भारत की संप्रुभता, एकता और अखंडता विरोधी गतिविधियों के आरोप में केंद्र सरकार ने चीन के जिन 47 ऐप्स को बैन (47 apps banned in india) किया है और पहले जो 59 चीनी ऐप्स बैन (59 chinese apps banned) किये थे, अब इसके साथ ही चीन के कुल 106 मोबाइल ऐप्स पर बैन लगा दिया गया है। रिपोर्ट्स के अनुसार, इस संबंध में जल्द ही बाकी सूचना जारी की जायेगी।
बता दें राष्ट्रीय सुरक्षा और उपभोक्ता के प्राइवेसी को लेकर 275 ऐप भी भारत सरकार के निशाने पर आ गए हैं। इसमें पबजी एवं अली एक्सप्रेस जैसे ऐप भी शामिल हैं। केंद्र सरकार ने इन 275 ऐप्स की पहचान जांच के लिए की है। यदि इन ऐप्स में राष्ट्रीय सुरक्षा या अन्य कोई भी उल्लंघन पाया जाता है तो चीनी के और भी ऐप्स पर भी बैन लगाए जा सकते हैं। साथ ही केंद्र सरकार चीनी ऐप्स (Chinese apps) के अलावा ऐसे भी ऐप्स पर नजर रख रही है जिनका चीन में निवेश है। साथ ही केंद्र सरकार चीनी ऐप्स के अलावा ऐसे भी ऐप्स पर नजर रख रही है जिनका चीन में निवेश है।