Breaking News

फेसबुक पर हुआ 38 साल की तलाकशुदा से प्यार, सच्चाई सामने आई तो करने चला खुदखुशी


आगरा में फेसबुक पर एक महिला ने प्रोफाइल में अपनी उम्र 38 की जगह 18 लिखकर किशोर से दोस्ती कर ली। दोनों फोन पर बात करते रहे। किशोर ने महिला को एक महीने पहले डेटिंग पर बुलाया। दोनों लॉकडाउन में दिल्ली के स्टेशन पर मिले। पहली मुलाकात में महिला की हकीकत जानकर किशोर तनाव में आ गया। घर आकर आत्महत्या करने की कहने लगा। चाइल्डलाइन ने किशोर की काउंसिलिंग की। इसके बाद उसने अपना इरादा बदल दिया। किरावली निवासी 17 वर्षीय किशोर की छह महीने पहले फेसबुक पर दोस्ती हुई थी। फेसबुक फ्रेंड की प्रोफाइल पर उम्र 18 साल लिखी थी। फोटो सुंदर युवती का लगा था। दोनों के बीच मैसेंजर पर चैटिंग शुरू हो गई।

लॉकडाउन में दिल्ली जाकर मिला

कुछ दिन बाद दोनों फोन करके भी बात करने लगे। फेसबुक फ्रेंड झारखंड की रहने वाली थी। उसने बताया कि वो दिल्ली में नौकरी करती है। दोनों में प्यार की बातें होने लगीं। किशोर ने शादी का वादा किया। एक महीने पहले किशोर ने उससे डेटिंग पर आने के लिए कहा। इस पर वो भी राजी हो गई। किशोर लॉकडाउन में प्रशासन से पास लेकर परिवार से झूठ बोलकर मिलने गया। फेसबुक फ्रेंड स्टेशन पर आई।

तब किशोर को पता चला कि फेसबुक प्रोफाइल पर उसका फोटो फर्जी था। जिससे उसकी दोस्ती है, उसकी उम्र तकरीबन 38 साल है। वो शादीशुदा और दो बेटियों की मां है। पति से तलाक हो गया है।

घर से आत्महत्या करने निकला छात्र, ऐसे बची जान
फेसबुक फ्रेंड की हकीकत सामने आने पर किशोर घर आने के बाद तनाव में आ गया। एक दिन घर से ट्रेन के सामने कूदकर खुदकशी करने निकल पड़ा। खेरिया स्थित रेलवे पुल के पास आकर उसने खुद चाइल्डलाइन के हेल्पलाइन नंबर पर फोन किया। खुदकुशी करने जाने के बारे में बताया। मगर, चाइल्डलाइन टीम ने उसे रोक दिया। टीम के सदस्य लोकेशन पता करके पहुंच गए।

भेज दिए थे 20 हजार के गिफ्ट

किशोर के पिता शिक्षक हैं, जबकि किशोर कक्षा 12 का छात्र है। वो इकलौता भी है। उसने महिला को फेसबुक पर दोस्ती के बाद 20 हजार रुपये से ज्यादा के गिफ्ट ऑनलाइन खरीदारी के बाद भेज दिए थे। अब शादी करना चाह रहा था। उसके तनाव में आने पर परिजन परेशान हो गए।

तनाव हो रहा दूर

चाइल्डलाइन की समन्वयक ऋतु वर्मा ने बताया कि किशोर और महिला की उम्र में दोगुने का फर्क है। शादी नहीं हो सकती थी। महिला ने भी उससे बात करना बंद कर दिया। इससे उसका तनाव और बढ़ गया।


किशोर को समझाया कि वो पहले पढ़ाई पर ध्यान दे। पढ़ाई पूरी करने के बाद शादी की सोचे। फेसबुक पर फ्रेंड बनाते समय सावधानी बरतें। किशोर की लगातार काउंसिलिंग की जा रही है। अब वो तनाव से दूर है।