Breaking News

नाबालिग बच्ची के अपहरण, देह व्यापार और मानव तस्करी के मामले में सोनू पंजाबन को 24 साल की कैद


12 साल की बच्ची के अपहरण, देह व्यापार और मानव तस्करी के मामले में दोषी गीता अरोड़ा उर्फ सोनू पंजाबन को 24 साल और उसके सहयोगी संदीप बेदवाल को 20 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई है। इसके साथ ही कोर्ट ने इन दोनों पर जुर्माना भी लगाया है।

द्वारका कोर्ट के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश प्रीतम सिंह ने सोनू पजांबन को आईपीसी की धारा 328, 342, 366ए, 372, 373 और 120बी के तहत अलग-अलग सजा सुनाई हैं। सभी सजाएं एक साथ चलेंगी इसलिए सोनू पंजाबन को कुल 24 सालों तक कठोर कारावास में रखने और 64 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है।
वहीं कोर्ट ने संदीप बेदवाल को आईपीसी की धारा 363, 366, 366ए, 372, 120बी और 376 के तहत अलग अलग अवधि की सजा सुनाई है। सभी सजाएं एक साथ चलेंगी। इसलिए बेदवाल को अधिकतम 20 सालों तक जेल में रहना होगा। कोर्ट ने कुल 65 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है।
Sonu Punjaban: the deadly lady don whose victims are innocent ...

कोर्ट ने संदीप बेदवाल और सोनू पंजाबन को दोषी ठहराते हुए उनकी सजा पर 16 जुलाई को फैसला सुरक्षित रख लिया था। कोर्ट ने सोनू को नाबालिग लड़की के अपहरण, मानव तस्करी और देह व्यापार समेत अन्य धाराओं में दोषी ठहराया था, जबकि संदीप को नाबालिग से दुष्कर्म, उसके अपहरण और मानव तस्करी के अपराध समेत अन्य अपराध के लिए दोषी ठहराया था।