Breaking News

पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए टी20 वर्ल्ड कप फाइनल में इस बल्लेबाज की पारी को आज भी याद करते हैं युवराज सिंह

पूर्व भारतीय ऑलराउंडर युवराज सिंह ने 2007 के दक्षिण अफ्रीका में खेले गए टी-20 वर्ल्ड कप में स्टुअर्ट ब्रॉड की 6 गेंदों पर लगातार 6 छक्के जड़कर इतिहास रचा था। 13 साल बाद क्रिकेट फैन्स के जेहन में युवराज सिंह के वो 6 छक्के आज भी जाता हैं। इंग्लैंड के खिलाफ उस मैच में युवराज सिंह ने सबसे तेज अर्धशतक जड़ा था। युवी ने 12 गेंदों में अर्धशतक जड़कर रिकॉर्ड बनाया था। टी-20 वर्ल्ड कप से जुड़ी ऐसी कुछ और भी यादें और पारियां है, लेकिन इनमें युवराज सिंह एक पारी को इस टूर्नामेंट की सबसे अहम पारी मानते हैं। भारत ने जोहानिसबर्ग में खेले गए फाइनल मैच में पाकिस्तान को हराकर पहला टी-20 वर्ल्ड कप खिताब अपने नाम किया था। 

टी-20 वर्ल्ड कप 2007 के फाइनल में युवराज सिंह स्टार नहीं थे। फाइनल मैच में गौतम गंभीर और इरफान पठान ने भारत को ऐतिहासिक जीत दिलाने में मदद की थी, लेकिन युवराज सिंह फाइनल मैच में एक और पारी को सबसे महत्वपूर्ण मानते हैं। युवराज सिंह जिस पारी को फैन्स को याद दिलाना चाहते हैं, वह पारी थी रोहित शर्मा की। उस वक्त 20 साल के रोहित शर्मा ने भारत और पाकिस्तान के बीच खेले जा रहे हाई वोल्टेज फाइनल मैच में महज 16 गेंदों में 30 रन की पारी खेली थी। इसी पारी में रोहित ने 2 छक्के और एक चौका भी जड़ा था। रोहित की इस पारी ने बड़ा अंतर पैदा किया था। 
On Yuvraj Singh's Birthday, ICC Tweets Throwback Video Of His 6 ...

युवराज सिंह ने स्पोर्ट्सकीड़ा को दिए एक इंटरव्यू में कहा, ''हर कोई मेरे बारे में और गौतम गंभीर के बारे में बात करता है, लेकिन किसी को भी रोहित शर्मा की 18 या 20 गेंदों में खेली गई वो 36 रन (रोहित ने उस मैच में 16 गेंदों पर 30 रन बनाए थे) की पारी याद नहीं है। फाइनल मैच में रोहित की इसी पारी के दम पर हम 160 के करीब (पांच विकेट पर 157) तक पहुंच पाए थे। वह उस टूर्नामेंट की सबसे महत्वपूर्ण पारी थी। इरफान पठान ने तीन विकेट लिए थे और वह 'मैन ऑफ द मैच' रहे थे। लेकिन मुझे लगता है कि फाइनल में खेली गई रोहित की पारी बहुत स्पेशल थी।''