Breaking News

PM मोदी की कोरोना मीटिंग शामिल नहीं होंगी ममता, बोलने का नहीं मिलता मौका


कोरोना संकट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्रियों के साथ आज यानी बुधवार को दूसरे चरण की मीटिंग करेंगे. हालांकि, इस मीटिंग में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हिस्सा नहीं लेंगी. बताया जा रहा है कि इस मीटिंग में बोलने के लिए बंगाल को टाइम स्लॉट नहीं दिया गया है. वक्ताओं की सूची में सीएम ममता बनर्जी का नाम नहीं होने की वजह से वो इस बैठक में हिस्सा नहीं लेंगी.

तृणमूल कांग्रेस के सूत्रों की मानें तो बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए होने वाली बैठक में वक्ताओं की सूची में ममता बनर्जी का नाम नहीं है. बंगाल के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने ट्वीट कर कहा, केंद्र ने एक बार फिर बंगाल के लोगों को अपमानित किया है और ममता बनर्जी को नहीं बोलने देने का फैसला किया है.वहीं, टीएमसी सांसद डॉ. काकोली घोष दस्तीदार ने कहा, केंद्र को यह बताना चाहिए कि क्यों वो बंगाल के लोगों की चिंताओं को नजरंदाज कर रहा है. हम अभूतपूर्व संकट का सामना कर रहे हैं. हमें मिलकर लड़ना चाहिए था. आप हमारी सीएम से इतना डरते हैं कि आप उन्हें बोलने भी नहीं दे सकते?

बता दें कि देश भर में कोरोना वायरस जैसी महामारी की चपेट में आने वाले लोगों की तादाद तेजी से बढ़ रही है. इसके मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दो चरणों में बैठक कर रहे हैं. पहले चरण की मीटिंग मंगलवार को 21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ हो चुकी है.वहीं, दूसरे चरण की मीटिंग बुधवार को 15 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ होनी है. प्रधानमंत्री मोदी आज यानी बुधवार क 3 बजे मुख्यमंत्री से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोरोना वायरस पर चर्चा करेंगे. बैठक में महाराष्ट्र, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, बिहार और तेलंगाना के सीएम शामिल होंगे.

आज की बैठक लंबी चलने की उम्मीद है, क्योंकि यह सभी बड़े राज्य हैं और इनमें करोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य भी है. इसके मद्देनजर आगे की रणनीति और तैयारियों पर बातचीत की जाएगी. टेस्टिंग और ट्रेसिंग पर बात की जाएगी. मुख्यमंत्री अपनी-अपनी बात रखेंगे. सबसे पहले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बोलेंगे.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को सभी 21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को साफ संदेश दिया था कि सभी को मिलकर आगे बढ़ना होगा. अर्थव्यवस्था पटरी पर आ रही है. टेस्टिंग और ट्रेसिंग पर ध्यान देना होगा. पीएम मोदी का यह भी कहना था कि हमने सही समय पर सही निर्णय लिए.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना लॉकडाउन से लेकर अब तक 5 बार मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर चुके हैं. हालांकि, अनलॉक-1 के बाद पीएम मोदी की मुख्यमंत्रियों के साथ ये पहली बैठक है.