Breaking News

दूध पीना सेहत के लिए अच्छा होता है, लेकिन इसे कब और कैसे पीने चाहिए? जानें


ये तो सभी जानते हैं कि दूध शरीर के लिये सबसे जरुरी चीज है जिसका हमारे आहार में शामिल होना महत्वपूर्ण है। लेकिन आयुर्वेद में दूध को पीने के कुछ तरीके और नियम बताए गए है। जिससे दूध पीना और भी ज्यादा फायदेमंद हो जाता है। सभी को नियमित रूप से हल्का गर्म दूध पीने की सलाह दी जाती है। दूध पीने का कौन सा समय सही है इसके बारे में आयुर्वेद में रात को दूध पीने को प्राथमिकता दी गई है। अलग-अलग समय पर दूध पीने का असर भी अलग-अलग होता है।

# यदि दूध का सेवन दिन में किया जाए तो यह हमें दिनभर एनर्जी देगा। अगर इसे रात मे पिया जाए तो यह दिमाग को शांत और अनिंद्रा दूर करेगा। आयुर्वेद में रात को दूध पीने की प्राथमिकता दी गई है।

#सुबह:- सुबह दूध पीने की सलाह नहीं दी जाती क्‍योंकि यह पचाने में भारी होता है।

# दुपहर:- इस समय दूध पीने से बुजुर्गों को ताकत मिलती है।

# शाम:- शाम के दौरान दूध पीने से आंखों पर अच्‍छा असर पड़ता है।

#रात:- रात को दूध पीने सबसे अच्‍छा माना जाता है क्‍योंकि इससे शरीर की थकान मिटती है और नींद अच्‍छी आती है।

#रात को दूध पीने से क्या लाभ होते हैं : रात को दूध पीने से नींद इसलिये अच्छी आती है क्योंकि दूध में अमीनो एसिड ट्राइप्टोपेन होता है जो कि नींद के हार्मोन के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है। दूध में कैल्शियम होता है जो कि हड्डियों को मजबूत बनाता है। और साथ ही शाम को दौड़ भाग कम करने की वजह से दूध का कैल्शियम हड्डियों में आराम से समा जाता है।

# दूध को कभी भी भोजन के साथ नहीं पीना चाहिये क्योंकि यह जल्द हजम नहीं हो पाता। इसे हमेशा अलग से गरम कर के पीना चाहिये।