Breaking News

मन की बात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश से की ये 8 बड़ी बातें

Prime Minister Narendra Modi's 'Mann ki Baat': Highlights | India ...
देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 28 जून यानी आज रेडियो पर 'मन की बात' कार्यक्रम के जरिए देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा, सभी लोग सोच रहे हैं कि आखिर साल 2020 कब खत्म होगा. प्रधानमंत्री मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि मन की बात कार्यक्रम में अनेक विषयों पर बातचीत की गई. दुनियाभर में काफी तेजी से फैल रही कोरोना महामारी (corona virus in India) पर भी खूब बातें हुईं. लोग हर रोज एक ही चर्चा कर रहे हैं कि आखिर यह साल कब बीतेगा?
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन की बड़ी बातें-
1. पीएम नरेंद्र मोदी ने मन की बात (Mann Ki Baat LIVE) कार्यक्रम में कहा कि, भारत का संकल्प देश के संप्रभुता और स्वाभिमान की रक्षा करना है, भारत का लक्ष्य आत्मनिर्भर भारत है. देश का भाव बंधुता है, और हम इन्हीं आदर्शों के साथ हमेशा आगे बढ़ते रहेंगे.
2. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि, हमारा हर प्रयास इसी दिशा में होना चाहिएजिससे देश की ताकत बढ़े. देश आत्मनिर्भर और सक्षम बने.
3. पीएम मोदी ने कहा कि, देश की रक्षा के जिस संकल्प से हमारे जवानों ने अपना बलिदान दिया है, उसी संकल्प को हर भारतवासी को जीवन का ध्येय बनाना है.
4. लद्दाख के गलवान घाटी (Galwan Valley) में हमारे जो जवान शहीद हुए हैं, उनके गाथा को पूरा देश नमन कर रहा है और हमेशा करता रहेगा.
5. PM मोदी ने कहा कि, पिछले महीने देश के पूर्वी छोर पर अंफान चक्रवात (Amphan Cyclone) आया तो पश्चिमी छोर पर Cyclone Nisarg आया. देश के 10 से अधिक राज्यों में हमारे किसान टिड्डी दल (Locust Attack) के हमले से काफी परेशान हैं.
6. पीएम मोदी ने कहा कि, इन सबके बीच हमारे कुछ पड़ोसी देश द्वारा जो कुछ भी हो रहा है, देश उन सभी चुनौतियों को जल्द से जल्द निपटाने की कोशिश कर रहा है. एक-साथ इतनी आपदाएं, बहुत कम ही देखने-सुनने को मिलती हैं.
7. पिछले कई दिनों से चल रहे चीन से टकराव पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा, लोगों को ऐसा लगता था कि देश की संरचना ही खत्म हो जाएगी, लेकिन इन तमाम संकटों से भारत और भी भव्य होकर सामने आया है.
8. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि, एक साल में एक चुनौती आए या फिर 50 लेकिन इससे साल खराब नहीं हो जाता. भारत का इतिहास (History of India) ही चुनौतियों पर विजय पाकर और ज़्यादा निखरकर निकलने का रहा है.