Breaking News

शादी में 50 से ज्यादा लोग बुलाना पड़ गया महंगा, लगा 6 लाख से ज्यादा का जुर्माना




राजस्थान के भीलवाड़ा में एक शादी समारोह में प्रतिबंध के बावजूद 250 लोगों को बुलाना दूल्हे के लिए महंगा साबित हुआ. बारात में कोरोना का संक्रमण ऐसा फैला कि शादी समारोह में हिस्सा लेने वाले 15 लोग अब तक कोरोना वायरस से पीड़ित हो गए हैं. इसमें दूल्हा भी शामिल है. कोरोना की चपेट में आकर दूल्हे के दादा की मौत भी गई है.
15 लोग कोरोना पॉजिटिव, 127 क्वारनटीन
दूल्हा, उसके पिता समेत सभी 15 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. राजस्थान सरकार ने बारात में गए 127 लोगों को क्वारनटीन किया है और इनके क्वारनटीन फैसिलिटी और इलाज पर होने वाले खर्च को दूल्हे के पिता से वसूलने का फैसला किया है. राज्य सरकार के मुताबिक इन लोगों को क्वारनटीन करने में अभी तक 6 लाख 26 हजार 600 का खर्च आया है.
दूल्हे के परिवार ने 250 लोगों को बुलाया
मगर इस परिवार ने 19 जून को भीलवाड़ा के दादा मोहल्ले में शादी समारोह आयोजित की. इस दौरान नियमों का उल्लंघन कर 250 लोगों को आमंत्रित किया गया. इसके बाद 21 जून से ही शादी में हिस्सा लेने वाले लोग कोरोना पॉजिटिव के रूप में सामने आते जा रहे हैं.
चिकित्सकों के अनुसार शादी समारोह में हिस्सा लेने वाले बुजुर्ग कोरोना की चपेट में आ गए हैं. कोरोना पॉजिटिव हुए अन्य लोगों में दूल्हे के चाचा, बुआ भी शामिल हैं. दुल्हन समेत 17 लोग अभी तक जांच में निगेटिव पाए गए हैं.दूल्हे के पिता से होगी खर्चे की वसूली
भीलवाड़ा के जिला मजिस्ट्रेट राजेंद्र भट्ट ने नोटिस जारी कर तहसीलदार को निर्देश दिया है कि यह राशि दूल्हे के पिता से 3 दिनों के भीतर वसूल कर मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा कराई जाए. साथ ही मजिस्ट्रेट ने यह भी कहा है कि आगे भी जो खर्च इलाज में आएगा, उसे जुर्माना के स्वरूप दूल्हे के परिवार से वसूला जाएगा.
शादी में 50 लोग ही जाएं
राजस्थान सरकार के अनुसार एपिडेमिक एक्ट के तहत यह कार्रवाई की गई है. लॉकडाउन को देखते हुए राजस्थान सरकार ने आदेश जारी किया था कि किसी भी शादी समारोह में 50 से ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं होंगे और जो लोग इकट्ठा होंगे भी उनके लिए भी कायदे कानून बनाए गए हैं.