Breaking News

ओरल सेक्स क्या होता है करने के तरीके, ओरल सेक्स के फायदे और नुकसान

हमारे समाज में ओरल सेक्स का विचार नया नहीं है। प्राचीन काल (ancient times) से ही मिस्र, रोम, ग्रीक और यहां तक कि भारत के लोग भी ओरल सेक्स करते आ रहे हैं। अजंता एलोरा की दीवारों से लेकर पुराने समय कि विभिन्न तरह की पेंटिग्स में भी ओरल सेक्स करते हुए स्त्री पुरुष को अच्छे से दर्शाया गया है और कामसूत्र (kamsutra) के एक पूरे अध्याय में ओरल सेक्स का विस्तार से वर्णन किया गया है। शायद यही वजह है कि आज भी लोगों में ओरल सेक्स करने का चलन बरकरार है। इस लेख में आप जानेगें ओरल सेक्स क्या होता है करने के तरीके, ओरल सेक्स के फायदे और नुकसान के बारे में।

मौखिक सेक्स (ओरल सेक्स) एक यौन क्रिया (sexual activity) है जिसमें महिला और पुरुष एक दूसरे के जननांगों (genitals) को मुंह से उत्तेजित (stimulate) करते है। उत्तेजित करने के लिए जीभ, दांत और होंठ का भी प्रयोग किया जाता है। इसे फोरप्ले (foreplay) करने की क्रिया भी कहा जाता है। ओरल सेक्स स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है और इसे करने से सेक्स के दौरान चरम सुख की प्राप्ति भी होती है। आजकल ज्यादातर लोग सेक्सुअल इंटरकोर्स (sexual intercourse) से पहले और बाद में ओरल सेक्स करना पंसद करते हैं।
ओरल सेक्स करने से पहले प्रत्येक स्त्री और पुरुष को ओरल सेक्स करने के सही तरीके के बारे में जानकारी होनी चाहिए तभी वे परम आनंद की प्राप्ति कर सकते हैं अन्यथा यह तकलीफदेह भी हो सकता है।
महिला के साथ ओरल सेक्स शुरू करने से पहले उसे चूमना (kissing) और आलिंगन करना चाहिए। आमतौर पर ओरल सेक्स शुरू करने का यही सही तरीका माना जाता है। ओरल सेक्स शुरू करने से पहले उसके स्तन पर अपनी उंगलियां फेरिये और होंठ और जीभ रखिए।
महिला के पीठ और गर्दन को छूने और चूमने के बाद उसकी जांघ के ऊपरी हिस्से पर धीरे-धीरे अपनी उंगलियां और होंठ ले जाइये और फिर उसकी योनि को छूकर उत्तेजित कीजिए। इसके लिए आप होंठ और जीभ (tongue) का सहारा ले सकते हैं।
महिलाओं की योनि में क्लिटोरिस सबसे संवेदनशील हिस्सा होता है और इसके ऊपर होंठ और जीभ रखते ही महिला को बहुत तेज उत्तेजना होती है और वह अपने पार्टनर को तेजी से पकड़ लेती है।
इसके बाद महिला के पूरे अंगों पर बहुत धीरे-धीरे अपने होठों और जीभ को घुमाकर उसे उत्तेजित (excite) करें।
यदि आप महिला हैं और किसी पुरुष के साथ ओरल सेक्स करना चाहती हैं तो सबसे पहले यह देखें कि जब उसके सामने अपने कपड़े उतारती हैं तो उसका लिंग उत्तेजित होता है या नहीं।
यदि लिंग (penis) उत्तेजित नहीं होता है तो इसे सीधे मुंह में लेने के बजाय पहले हाथों में लेकर उत्तेजित करें और इसके बाद मुंह में लेँ।
मुंह में लेने के बाद अपने अंगूठे और बाकी उंगलियों से उसे इसे ऊपर उठाएं और उत्तेजित करते रहें।
पुरुषों के गुप्तांग भी बहुत संवेदनशील (sensitive) होते हैं और जल्दी ही उत्तेजित हो जाते हैं। इसलिए आप तब तक कोशिश करते रहें जब तक की लिंग से सीमेन निकलकर आपके मुंह या हाथ में न आ जाए।
हम सभी जानते हैं कि सेक्सुअल इंटरकोर्स एक शारीरिक जरूरत है और उसी की पूर्ति के लिए व्यक्ति अपने पार्टनर के साथ सेक्स करता है लेकिन आपको बता दें कि ओरल सेक्स सेक्स क्रिया शुरू करने से पहले का एक स्टेप है। ओऱल सेक्स करने के कई फायदे होते हैं। आइये जानते हैं उन फायदों के बारे में।
माना जाता है कि महिलाओं के लिए ओरल सेक्स करना बहुत फायदेमंद होता है। यदि कोई महिला बढ़ती उम्र के कारण अपने चेहरे पर पड़ी झुर्रियों को हमेशा के लिए ठीक करना चाहती है और जवान दिखना चाहती है तो उसे प्रतिदिन ओरल सेक्स करना चाहिए। एक स्टडी में पाया गया है कि स्पर्म में स्पर्मिडिन (Spermidine) नामक रसायन होता है जो त्वचा की कोशिकाओं पर बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम कर देता है। इसलिए यदि कोई महिला ओरल सेक्स करती है तो उसे अपनी त्वचा को जवान रखने के लिए किसी क्रीम की जरूरत नहीं होगी।
यदि पुरुषों के लिए ओरल सेक्स के फायदे की बात की जाए तो उनके लिए भी ओरल सेक्स बहुत फायदेमंद होता है। यदि कोई पुरुष किसी महिला के साथ ओरल सेक्स करता है तो उसे प्रोस्टेट कैंसर (prostate cancer) नहीं होता है। एक स्टडी में पाया गया है जो पुरुष जितना अधिक ओरल सेक्स करता है उसमें प्रोस्टेट कैंसर विकसित होने की संभावना उतनी ही कम होती है।
महिलाओं के लिए ओरल सेक्स करने का सबसे बड़ा फायदा यह कि इससे सेक्स करने की क्षमता (sexual power) बढ़ती है और महिलाओं को स्वस्थ प्रेगनेंसी होती है। इसलिए यदि आप जल्दी प्रेगनेंट होना चाहती हैं या सेक्स का पूरा लुत्फ उठाना चाहती हैं तो आपको ओरल सेक्स करना चाहिए।
आमतौर पर महिलाओं में स्तर कैंसर होना एक आम समस्या है। इस समस्या से बचने के लिए महिलाओं के लिए ओरल सेक्स फायदेमंद माना जाता है। एक स्टडी में पाया गया है कि यदि कोई महिला हफ्ते में दो दिन किसी पुरुष के साथ ओरल सेक्स करती है तो उसके पूरे जीवन में उसे स्तन कैंसर होने की संभावना बहुत कम हो जाएगी क्योंकि सीमेन(semen) में पाया जाने वाला केमिकल स्तन के कैंसर को विकसित होने से रोकता है।
एक स्टडी में पाया गया है कि ओरल सेक्स करने से तनाव कम होता है। माना जाता है कि यदि महिला पुरुष कुछ देर तक ओरल सेक्स करते हैं तो उनके शरीर में तनाव उत्पन्न करने वाले हार्मोन (stress hormone) का स्तर घटता है और उनका तनाव या स्ट्रेस पूरी तरह से दूर हो जाता है।
यदि कोई महिला अपनी प्रेगनेंसी के समय ब्लड प्रेशर की समस्या से ग्रसित हो गई हो तो इस स्थिति में उसे ओरल सेक्स करना चाहिए। पुरुष के स्पर्म में पाये जाने वाला रसायन (chemical) महिलाओं के ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है। यही कारण है कि ओरल सेक्स करना फायदेमंद माना जाता है।
ओरल सेक्स करने का एक अन्य फायदा यह है कि स्त्री और पुरुष के बीच अंतरंगता(intimacy) बढ़ती है और अपने पार्टनर के साथ सेक्स की बातें या अंतरंग बातें करने या पोजिशन के बारे में बात करने में उसे झिझक नहीं होती है। इसके अलावा एक अच्छे सेक्स लाइफ (sexual life) के लिए भी ओरल सेक्स को अच्छा माना जाता
ओरल सेक्स करने से नया खून बनता है जो मसूढ़ों (gums), दांतों, बालों और चेहरे की मांसपेशियों (facial muscles) को पोषण प्रदान करता है। इसलिए यदि आप अपने शरीर की खूबसूरती बनाए रखने के लिए ओरल सेक्स कर सकते हैं।

आमतौर पर ओरल सेक्स को सेहत के लिए फायदेमंद माना जाता है लेकिन चूंकि यह जननांगों (genitals) से जुड़ा होता है इसलिए ओरल सेक्स करने से नुकसान भी हो सकता है। आइये जानते हैं ओरल सेक्स से होने वाले नुकसान के बारे में।
  • ओरल सेक्स करने से महिला और पुरुष दोनों को एसटीडी (STD) जैसी बीमारी हो सकती है। यदि कोई व्यक्ति पहले से ही एसटीडी या एचआईवी से संक्रमित हो तो उसके साथ ओरल सेक्स नहीं करना चाहिए क्योंकि योनि का तरल पदार्थ (vaginal fluids), सीमेन और यहां तक कि स्तन का दूध आपके पार्टनर को भी संक्रमित कर सकता है।
  • यदि ओरल सेक्स करते समय मसूढों से ब्लीडिंग (gum bleeding), मुंह में घाव या मुंह में छाले हुए हों तो ओरल सेक्स बहुत हानिकारक हो सकता है क्योंकि इन घावों के माध्यम से ओरल सेक्स करते समय जननांगों के बैक्टीरिया या वायरस शरीर के अंदर प्रवेश कर जाते हैं और व्यक्ति को बीमार कर देते हैं।
  • यदि आपको पहले कभी हर्पिस की समस्या हो चुकी है अभी भी आप हर्पिस के लक्षणों को महसूस करती हैं तो आपको अपने पार्टनर के साथ ओरल सेक्स नहीं करना चाहिए अन्यथा आपकी समस्या अधिक बढ़ सकती है।
  • ओरल सेक्स करने से गोनोरिया (Gonorrhoea) होने की संभावना ज्यादा रहती है। यह एक यौन संचारित बीमारी है जिसमें वायरस के कारण गले में सूजन हो जाती है और कभी-कभी दर्द के साथ पस भी निकलने लगता है।
  • ओरल सेक्स करने से सिफलिस (Syphilis), क्लैमिडिया (Chlamydia) आदि बीमारियां हो सकती हैं।
  • मौखिक सेक्स करने से मुंह के जरिए शरीर में कीटाणु प्रवेश कर जाते हैं जिसके कारण शरीर में संक्रमण पैदा हो जाता है और पेट में ऐंठन, डायरिया, बुखार आदि शुरू हो जाता हैं।
  • ओरल सेक्स करने से हेपेटाइटिस ए की समस्या भी हो सकती है और इसके कारण लिवर में सूजन (inflammation)हो सकता है। इसके अलावा संक्रमण के कारण हेपेटाइटिस बी भी हो सकता है जिससे पेट में दर्द और पीलिया हो सकती है।
  • एक स्टडी में पाया गया है कि ओरल सेक्स करने से गले का कैंसर हो सकता है। हालांकि यह जरूरी नहीं है कि ओरल सेक्स करने वाले हर व्यक्ति को यह समस्या हो।

ओरल सेक्स करने से पहले आपको कुछ सावधानियां भी बरतनी चाहिए
  • यदि ओरल सेक्स करने की तैयारी कर रहे हों तो पहले अपने जननांगों और गुप्तांगों (private parts) को अच्छी तरह से साफ कर लें ताकि आपके पार्टनर को संक्रमण न हो। (और पढ़े – प्राइवेट पार्ट की सफाई कैसे करें)
  • यदि आपके पार्टनर या आपका मन न हो तो जबरदस्ती ओरल सेक्स न करें अन्यथा आपको उल्टी आ सकती है।
  • ओरल सेक्स कुछ परिस्थितियों में तनाव भी पैदा कर देता है इसलिए यह सुनिश्चित कर लें कि किस समय आपको ओरल सेक्स करना चाहिए।
  • ओरल सेक्स करने के लिए आप दोनों का मन प्रसन्न होना चाहिए तभी यह क्रिया करें अन्यथा जननांगों को नुकसान पहुंच सकता है।
  • यदि ओरल सेक्स करते समय किसी तरह की परेशानी (discomfort) हो रही हो तो ओरल सेक्स न करें।
  • ओरल सेक्स लगातार करने की बजाय रूक रूककर करें इससे आपको पूर्ण आनंद की प्राप्ति होगी।