Breaking News

पति की शर्मनाक हरकत! खाना नहीं बना टेस्टी तो पत्नी को कोरोना संक्रमित बता कर घर से निकाला

पत्नी को कोरोना संक्रमित बताकर घर से निकाला।

कोरोना महामारी और लॉकडाउन के दौरान सड़क पर आए परिवारिक मामले को भी सुलझाना पड़ रहा है। दरअसल, पटना के राजा बाजार में किराए के मकान में रहने वाले प्रकाश शर्मा नामक एक व्यक्ति ने पत्नी को बच्चे के साथ घर से बाहर निकाल दिया। लोगों से कहा कि उसकी पत्नी कोरोना पीड़ित है। जब स्थानीय शास्त्री नगर थाने की पुलिस को इसकी जानकारी मिली तो वहां पहुंचकर पूरे मामले की जांच की।

पुलिस के अनुसार पीड़ित महिला छठी देवी ने बताया कि वह अपने पति बच्चे और सास-ससुर के साथ मछली गली के चाणक्यपुरी में किराये मकान में रहती है। उसका मायका अरवल के जिनपुरा गांव में है। पीड़ित महिला ने पुलिस को बताया कि उसके पति ने कोरोना पीड़ित बताकर कर उसे और बच्चे को घर से निकाल दिया। महिला ने पुलिस को यह भी बताया कि उसका पति यह भी कहता था कि उसके हाथ का बना खाना अच्छा नहीं लगता है, इसपर एक बार मैंने भी कह दिया कि आप खुद ही खाना बना लीजिए। इसपर वह भड़क गए और घर से निकाल दिया।

पुलिस ने पहुंचाया महिला को वापस उसके घर
इस पूरे मामले पर शास्त्री नगर के थाना प्रभारी विमलेंदु कुमार ने नवभारत टाइम्स.कॉम से बात करते हुए कहा कि पहले पुलिस को यह सूचना मिली थी कि किसी मकान मालिक ने अपने किराएदार को घर से बाहर निकाल दिया। इस सूचना पर जब हमारी टीम जांच के लिए पहुंची तब मामला ही दूसरा निकला।

थाना प्रभारी दिन विमलेंदु कुमार ने बताया कि महिला के कोरोना संक्रमित होने का झूठा इल्जाम लगाकर उसके पति ने घर से बाहर निकाल दिया था। लिहाजा मौके की नजाकत और पारिवारिक झगड़े को देखते हुए पुलिस ने पीड़ित महिला को वापस उसके घर पहुंचा दिया है। इसके साथ ही महिला के पति को भी हिदायत दे दी गयी है कि दोबारा इस तरह की घटना हुई तो उन पर केस दर्ज कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

शास्त्री नगर थाना प्रभारी ने बताया कि इस तरह के मामले में सबसे बड़ी दिक्कत यह है कि कोरोना महामारी के वक्त पीड़ित महिला अपने मायके भी नहीं जा सकती। ऐसे में लोगों को समझाना ही बेहतर जरिया है। उन्होंने कहा कि आम दिनों में अगर ऐसा होता तो महिला के पति पर केस कर उन पर कानूनी कार्रवाई जरूर करते। लेकिन क्योंकि परिवार का मामला था इसलिए फिलहाल पुलिस ने महिला के पति को अपने तरीके से समझा कर दोबारा ऐसी हरकत ना करने की हिदायत दे दी है।